Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 13 फ़रवरी 2012

" यलगार " - ब्लॉग बुलेटिन

                                         
 आज दुसरी  बार  मौक़ा  मिला  और मैं आपके सामने  कुछ लिंक फिर लेकर हाजिर हूँ.... ! शुरुआत एक यलगार  से करती हूँ.... ,  एक "भाई " यलगार "

Dear All,
Need your attention Please!!!!!

I am writing with lots of anger and sadness and as a defeated person who is not able to do anything to give fair justice to my lovely Sister Ms. Indu Yadav who were married last year with Mr Su...dhir Yadav from Jaipur. Indu were studying in one of the best college of Rajasthan called MNIT and was doing her MSc in Physics.

I am very sad to inform you that on 26th January when all nation were celebrating Republic day Indu’S in Laws has brutally killed her for dowry issue. We have given all possible things to my sister out of our “HASIYAT” but their demand was never ending and finally on 26th January they have killed my lovely sister.

Another Sad part of this issue is that all the Govt bodies like Police, Administration and other concern department have also been set by those inhuman people hence nobody has taken any action against them and all of them are freely moving here and there with lots of smile in their brutal faces. Police asking us stupid questions like, First prove that she was married to them, You are her parent etc..

We are totally helpless and seeking help now through Facebook as this social site have given justice to lot of people around the world. Will you please help me to share this as much as possible so that Govt of Rajasthan will get to know what is happening in the capital of Rajasthan .

Please

Brother.
 

कैसे ,एक बिहारी ब्लोगर बन ,  चला फ़िल्म बनाने.... !! क्यों है न हम सब के लिए यह एक गौरव की बात ???


" आसमान के लिफाफे पर कोरे चाँद का खत.... ,
    उम्मीद के समियानों तले सपनों का छत.... ! "आपलोगों को कुछ समझ में आया.... ??

कभी-कभी कुछ क्षण का परिचय कुछ खास बन जाता है...... ! रात के करीब एक बजे मैं fb पर समय काट रही थी , "प्रीती का जन्मदिन " का पता  चला और उसे बधाई दे दी , वो  मुझे  जानती थी और   मै , लेकिन मुझे नजाने क्यों उसके बारे में जानने की इच्छा थीदुसरे दिन  उसने मुझे thank  का msg  भेजी और  रिश्ता बनता  चला गया........... !!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!

दिल के दरवाजे से निकला ये अनोखा बंधन.... !

 निर्दोष - निस्वार्थ प्रेम-भाव का ये अनोखा बंधन.... ! 
खुद पर जाऊं तो ,इस दिल को पत्थर भी बना सकती हूँ ,यूँ ही कुछ लिखते-लिखते इतिहास भी रच सकती हूँ ,"मैं"

http://sushma-aahuti.blogspot.in/2012/02/blog-post.html ,
“ ख़ामोशी कहो या सन्नाटा ,
  वह हमारे भीतर ही गहराता है ,
और जब अन्दर बसंत नहीं रह जाता ,
तो बाहर का बसंत भी सूखा लगता है ,
प्रकृति भी बेगानी लगती है…. “
रश्मि प्रभा जी का आभार…. !
आज उनका जन्मदिन भी है.... !

http://lifeteacheseverything.blogspot.in/2012/02/blog-post_07.html

7-2-2012 माघी पूर्णिमा - Rose Day- शिवम् भाईमैनपुरी का समाचार (बस दुर्घटना) सारे T.V. चैनल और

न्यूज़-पेपर पर था.... :( सिवाय आपके http://mymainpuri.blogspot.in/ ) का शादी की  सालगिरह  थी , बहुतो 

ने बधाई  दीमैं भी दी ,उसी में किसी ने दुल्हन (शिवम् भाई की पत्नी) को "विजय-दिवस बधाई   दी.... ! 
यशवंत माथुर के कारण…. !चुनाव का माहौल सभी तरफ छाया है :- http://jomeramankahe.blogspot.in/2012/02/blog-post_05.html,लेकिन मैं आजतक कभी वोट नहीं दी.... :( मैका में श्रीमान शहाबुद्दीन का फरमान था की कोई वोट नहीं डालेगा और पटना में २०-२२ वर्ष तो श्रीमान लालू भू-मिहार ,रा-जपूत ,बा-ब्राहमण ,-लाला (कायस्थ)
"भूराबाल साफ करो"
के कारण निकल गए…. L सांपनाथ और नागनाथ.... तो साफ हो गए…. ! लेकिन …. !”
अब लगता है , चुनाव-आयोग ये कानून बना दें कि जो नेता जिस दल से चुन कर आयेगा ,वो उस दल को नहीं बदलेगा , नहीं तो जो सजा गद्दारों और धोखेबाजों को मिलता है वही उन्हें भी मिलेगा तो मैं वोट दाल लूं.... !! नहीं तो फिर क्या फायदा "थाली के बैगन"........ जो पैसे पर बिकते है............................ ??????????????
पहले अपना मन साफ़ करो, अपनी गलती भी स्वीकारो ,
फिर गलत दिखे चाहे कोई , गिनकर सौ- सौ जूते मारो  /
जैसे व्यभिचारी , चोर  और  मिर्गी  की औषधि जूता है ,
बस उसी तरह इस भ्रष्ट व्यवस्था का इलाज भी जूता है
यह नियम बहुत पहले लागू होना चाहिए था.... !
खैर…. !”
जब जागो तभी सवेरा , अभी से ही शुरू हो तो सही.... !

18 टिप्पणियाँ:

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

फ़ांट कुछ भागते दौड़ते से लग रहे हैं

शिवम् मिश्रा ने कहा…

विभा दीदी ब्लॉग बुलेटिन को एक बार फिर अपना समय देने के लिए आपका बहुत बहुत आभार !
मैं ६ फरवरी से ले कर कल शाम तक जयपुर में था सो इस दौरान मेरे किसी भी ब्लॉग पर कोई भी पोस्ट नहीं आ पायी !
आपकी शुभकामनाओ के लिए हम दोनों की ओर से बहुत बहुत धन्यवाद !

Vibha Rani Shrivastava ने कहा…

शिवम् भाई..... शुक्रगुजार तो मै हूँ.... आप मुझपर विश्वास कर सके.... :)

यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) ने कहा…

बहुत ही अच्छे लिंक्स दिये हैं आंटी।
मुझे शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।

सादर

कविता रावत ने कहा…

bahut badiya links ke sath sundar blogbulletin prastuti ke liye dhanyavad..

sangita ने कहा…

bahut badiya links ke sath sundar blogbulletin prastuti ke liye dhanyavad..

S.M.HABIB (Sanjay Mishra 'Habib') ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन...सुन्दर लिंक्स...
सादर आभार

Shanti Garg ने कहा…

बहुत बेहतरीन....
मेरे ब्लॉग पर आपका हार्दिक स्वागत है।

Madhuresh ने कहा…

विभा जी, इस बुलेटिन को पढने के बाद बहुत कुछ है कहने को.
पहली बात तो ये कि बहुत अफ़सोस की बात है कि आज की तारीख में भी दहेज़-सम्बन्धी दुर्घटनाओं से समाज लिप्त है. इतनी पढ़ी-लिखी लड़की के साथ ये हश्र होना और भी चिंतनीय है. ( पता होना चाहिए कि MNIT में दाखिला आसान नहीं होता, निस्स्संदेह इंदु बहुत ही talented होंगी) निश्चित ही, हमें (सारे ब्लौग परिवार को) एकजुट होकर इसके विरोध में खड़ा होना चाहिए.
दूसरा मुद्दा जो जातिगत राजनीति का है, वो भी इस कदर घर कर गया है हमारे समाज में कि वाकई लगता है कि मतदान करें तो क्यूँ करें? आनेवाली पीढ़ी शायद ज्यादा 'informed ' हो और हम सब मिलकर अच्छी राजनीति को प्रोत्साहित करें, यही कामना करता हूँ.
बहरहाल, लिंक्स अच्छे संजोय हैं आपने, कुछेक पहले से पढ़ रखी थी मैंने, कुछ नए सुन्दर लिंक्स भी मिलें.

Atul Shrivastava ने कहा…

बढिया बुलेटिन।

रश्मि प्रभा... ने कहा…

न्याय को आधार बना जो शुरुआत आपने की है, वह प्रशंसनीय है . लिंक्स चयन - आपकी पसंद बहुत अच्छी है... और सबसे बड़ी बात कि आपने एक स्नेहिल वातावरण बनाते हुए सबका ज़िक्र किया है ...

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

जागते रहो..

अजय कुमार झा ने कहा…

बहुते कमाल धमाल विभा दी । आपका चयन बहुत ही सुंदर लगा । मज़ा आ रहा है आप सबको एक साथ यहां पाकर । उम्मीद है कि आने वाले समय में बुलेटिन ब्लॉग पाठकों का स्नेह पाता रहेगा ।

मनोज कुमार ने कहा…

आपकी चर्चा की शैली देख कर चमत्कृत और प्रभावित हुआ। कृपया बधाई स्वीकारें।

Anupama Tripathi ने कहा…

wah bahut badhia buletin ...

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

गज़ब की धमाकेदार बुलेटिन है.. सामयिक, सार्थक और शानदार!!

shikha varshney ने कहा…

बहुत बढ़िया..शानदार बुलेटिन.

Pallavi ने कहा…

बहुत अच्छे लिंक्स के साथ बढ़िया बुलेटिन सजाया है...

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार