Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 14 नवंबर 2015

बाल दिवस, आतंकी हमला और ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

दुनिया का सबसे सच्चा समय;
दुनिया का सबसे अच्छा दिन;
दुनिया का सबसे हसीन पल;
सिर्फ बचपन में ही मिलता है।

इसलिए मेरे अंदर के एक बच्चे की तरफ से आपके अंदर के एक बच्चे को बाल दिवस की शुभकामनायें!!

सादर आपका
शिवम् मिश्रा

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

देश के भविष्य

आज बाल दिबस है

" बचपन......"

फिर से बचपन दे दे जरा.............. पुष्पा परजिया

आतकवाद मुक्त विश्व

१९१. बहस के बीच में

हार की जीत

शून्य निरर्थक नहीं .......

जिस का काम उसी को साजे...

(लघुकथा) चि‍प्स का पैकेट

बदलाव

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ... 

जय हिन्द !!!
 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~


फ्रांस मे हुये आतंकी हमले मे प्रभावित लोगो के साथ हमारी हार्दिक संवेदनाएं जुड़ी हैं !!

7 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बाल दिवस पर बच्चों को ढेर सारी शुभकामनाऐं
चाचा नेहरू को याद नहीं करना है भूल जायें ।

सुंदर बुलेटिन ।

Rushabh Shukla ने कहा…

सुन्दर बुलेटिन ..........मेरी रचना "देश के भविष्य" को स्थान देने के लिए आभार |

yashoda Agrawal ने कहा…

शुभ प्रभात
आभार
सादर

Kavita Rawat ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति!
आभार!

Kajal Kumar ने कहा…

लघुकथा का भी लिंक सम्‍मि‍लि‍त करने के लि‍ए आपका आभार जी

vandana gupta ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन .........हार्दिक आभार

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार