Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 8 फ़रवरी 2014

जगजीत सिंह जी की 73वीं जयंती पर विशेष बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को नमन।।



आज महान गजल गायक जगजीत सिंह जी की 73वीं जयंती पर पूरा हिन्दी ब्लॉगजगत और हमारी ब्लॉग बुलेटिन टीम उन्हें शत शत नमन करती है। सादर।।


अब चलते हैं आज कि बुलेटिन की ओर  …………… 













कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि।।

7 टिप्पणियाँ:

Amit Kumar Nema ने कहा…

मेरे ब्लॉग-आलेख ' झाँकी हिंदुस्तान की : बढे चलो , बढे चलो' को आज श्री जगजीत सिंह जी को समर्पित बिशेष ब्लॉग-बुलेटिन अंक में शामिल करके आपने मुझे जो सम्मान प्रदान किया, इस हेतु मैं आपका हार्दिक आभारी हूँ | आपका तहेदिल से शुक्रगुज़ार हूँ |

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

जगजीत सिंह "गजल सम्राट" को नमन । उल्लूक का सूत्र "लिखना किसी के लिये नहीं अपने लिये बहुत जरूरी हो जाता है" शामिल किया आभार । सुंदर सूत्रों के साथ आज का सुंदर बुलेटिन ।

देवदत्त प्रसून ने कहा…

आप तथा सभी मित्रों को वसंत-मॉस की हृदयात मधुर वधाइयां ! सब को चहेतों से मीठा मीठा प्यार मिओलता रहे !
एक श्रेष्ठ मर्यादाशील गायक को मेरा प्रणाम एवं उनके चिरायु होने की शुभकामना !

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

मेहदी हसन ने जहाँ ग़ज़ल को सिम्प्लीफाई किया वहीं जगजीत सिन्ह ने उसे मक़बूलियत की वो ऊँचाइयाँ दीं कि जिसे छूना किसी के लिए भी नामुमकिन है. यही नहीं इन्होंने तलत अज़ीज़ जैसे गायक का भी हमसे परिचय करवाया. एक बेहतरीन फ़नकार को इस तरह याद करना सचमुच सराहनीय है!
बुलेटिन परिवार की ओर से नमन उन्हें!!

Prabhat Ranjan ने कहा…

उत्साह वर्धन के लिए आभार

शिवम् मिश्रा ने कहा…

जगजीत सिंह साहब को शत शत नमन |

एक बढ़िया बुलेटिन का हिस्सा बनाने के लिए आभार हर्ष |

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत ही सुन्दर सूत्र, आभार..

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार