Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 14 नवंबर 2016

बाल दिवस




बाल दिवस - यह चाचा नेहरू की देन है।  14 नवंबर पंडित जवाहर लाल नेहरु (भारत के पहले प्रधानमंत्री) का जन्मदिन है। भारतीय प्रधानमंत्री के रुप में अपने व्यस्त जीवन के बावजूद भी वो बच्चों से बेहद लगाव रखते थे। वो उनके साथ रहना और खेलना बहुत पसंद करे थे। चाचा नेहरु को श्रद्धांजलि देने के लिये 1956 से बाल दिवस के रुप में उनके जन्मदिवस को मनाया जा रहा है। नेहरु जी कहते थे कि बच्चे देश का भविष्य है इसलिये ये जरुरी है कि उन्हें प्यार और देख-भाल दिया जाये जिससे वो अपने पैरों पर खड़े हो सकें। देश और बच्चों के उज्जवल भविष्य को सुरक्षित करने और किसी भी नुकसान से बचाने के लिये बाल दिवस सभी के लिये एक आह्वन स्वरुप है।





बाल-दिवस पर बच्चों के लिये..
चुहिया बोली-चूँ चूँ चूँ
बिल्ली बोली - म्याऊँ
कुत्ता बोला-भौं भौं भौं
बाहर आ मैं खाऊँ.

उम्रदराज़ आँखों में, सरहद बेशक है मु'अय्यन...
... निगाह में बच्चों सी, उम्मीद हद मासूम रखिये... ... .... !!

2 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बाल दिवस की शुभकामनाएं । सुन्दर बाल दिवस बुलेटिन।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

सभी को बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार