Subscribe:

Ads 468x60px

गुरुवार, 23 जनवरी 2014

नेताजी की ११७ वीं जयंती - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

आज २३ जनवरी है ... उम्मीद है आप जानते ही होंगे कि आज नेताजी सुभाष चन्द्र बोस जी की ११७ वीं जयंती है | वैसे आज के दौर मे कोई यह कहे कि वो नेताजी को नहीं जानता या 'नेताजी' संबोधन सुन किसी और का नाम ले तो बिलकुल भी ताज्जुब नहीं होगा ... अगर इतिहास को थोड़ा कुरेद कर देखेंगे तो पता चलता है कि यह सब एक बहुत बड़ी साजिश के कारण हुआ है या हो रहा है ... इस बारे मे मैंने पहले भी कई बार आप लोगो को बताया है इस लिए बार बार वही नहीं दोहराना चाहता |

आज की बुलेटिन मे शामिल पोस्टों के लिंक्स जरूरी नहीं कि नेता जी से ही जुड़े हुये हो फिर भी कोशिश की है ज्यादा से ज्यादा उन से जुड़ी हुई पोस्टें ही शामिल हो | यहाँ दिये गए चित्रों मे ही आज के लिंक्स छिपे है ... चित्रों पर क्लिक करते ही पोस्ट खुल जाएगी | इस लुकाछिपा का भी एक कारण है ... नेताजी के बारे मे जो सब से बड़ा सच है वो भी लुकाछिपा ही तो है |

|http://swarnimpal.blogspot.in/2014/01/blog-post.html

http://mereephotoo.blogspot.in/2014/01/blog-post_23.html

http://vbadola.blogspot.in/2014/01/27.html
 
http://hindu0007.blogspot.in/2014/01/blog-post_1418.html

http://nazehindsubhash.blogspot.com/2014/01/blog-post.html

hariharsvp.blogspot.com/2014/01/blog-post_23.html

http://rajeshtripathi4u.blogspot.com/2014/01/normal-0-false-false-false.html

http://uchcharan.blogspot.com/2014/01/blog-post_23.html
 
http://harshprachar.blogspot.com/2014/01/Netaji-Subhash-Chandra-Bose-Hindi-Quotes-and-Thoughts-and-117-Birth-Anniversary.html
 
http://guzarish6688.blogspot.com/2014/01/blog-post_23.html
 
http://burabhala.blogspot.com/2014/01/blog-post_23.html
"मृतक ने तुमसे कुछ नहीं लिया | वह अपने लिए कुछ नहीं चाहता था | उसने अपने को देश को समर्पित कर दिया और स्वयं विलुप्तता मे चला गया |"
- महाकाल 
"महाकाल" को ११७ वीं जयंती पर पूरी ब्लॉग बुलेटिन टीम और हिन्दी ब्लॉग जगत का सादर शत शत नमन ||

आज़ाद हिन्द ज़िंदाबाद ... 
नेता जी ज़िंदाबाद ||

जय हिन्द !!!

11 टिप्पणियाँ:

Vikesh Badola ने कहा…

धन्‍यवाद। बोस जी को श्रद्धां‍जलि। मेरे ब्‍लॉग का यह लिंक भी बोस जी की आजाद हिंद फौज के बारे में कुछ बताता है (http://chandkhem.blogspot.in/2014/01/blog-post.html)

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

लिंक लगाने का अंदाज अच्छा लगा।

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

जय हिंद !
बहुत सुंदर बुलेटिन आज का !

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

विकेश जी आपके लिंक पर Sorry, the page you were looking for in this blog does not exist. लिखा मिल रहा है !

शिवम् मिश्रा ने कहा…

जोशी जी , विकेश जी का दिया हुआ लिंक खुल रहा है ... कृपया दोबारा कोशिश करें |
http://chandkhem.blogspot.in/2014/01/blog-post.html

Anupama Tripathi ने कहा…

नेताजी को नमन और आपकी आस्था को भी शिवम ....!!बढ़िया बुलेटिन है ....!!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बात सुनाना तुमको आया,
गर्व जगाना तुमको आया,
राज मान कर बैठे नश्वर, अंग्रेजों को,
दीन हीन बन बैठे अपने, देश जनों को,
शक्ति बची किसमें है कितनी,
सत्य दिखाना तुमको आया।

(सुभाष चन्द्र बोस पर)

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

असली नेता, असली हीरो, असली देशभक्त!!
आज तो सब नकली हैं!

Anurag Choudhary ने कहा…

Respected Mishraji, Thank you very much for this out standing Article and excuse me for a comment in english, but I am poor in writing hindi on internet though my knowledge is average in hindi except writing on internet.

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…

अगर उनके हाथों में शासन की बागडोर आती तो आज बात ही कुछ और होती । अद्वितीय देशभक्त को मेरा नमन ।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार