Subscribe:

Ads 468x60px

कुल पेज दृश्य

बुधवार, 25 सितंबर 2019

बिना किसी जीत हार के




कमी न तुममें थी
न मुझमें थी,
और शायद कमी तुझमें भी थी,
मुझमें भी थी ...
कटु शब्द तुमने भी कहे,
हमने भी कहे,
मेरी नज़रों से तुम गलत थे,
तुम्हारी नज़रों से हम !
बना रहा एक फासला,
न तुम झुके,
न हम - 
शिकायतें दूर भी हों तो कैसे ?
आओ, चुपचाप ही सही,
कुछ दूर साथ चलें,
मुमकिन है थकान भरे पल में,
तुम मुझे पानी दो
मैं तुम्हें ...
बिना किसी जीत-हार के,
बातों का एक सिलसिला शुरू हो जाए ।

रश्मि प्रभा 


एक ब्लॉग लिंक उठाती हूँ और उसके कुछ कमरों से गुजरती हूँ आपको साथ लेकर, शायद इसी बहाने रुके कदम,फिर चल पड़े -

    प्रदीपिका सारस्वत

इनफ़िडल




तन तंबूरा तार मन...




इसके बाद आप इन्हें पढ़िए और कहिये और लिखें 

15 टिप्पणियाँ:

विभा रानी श्रीवास्तव 'दंतमुक्ता' ने कहा…

सदा चलते रहें कदम
जीवनोदय है अनेकानेक का

Dr.NISHA MAHARANA ने कहा…

ये बात समझ में आ जाये तो जीवन में खुशियों की कमी नहीं रहेगी ..शानदार अभिव्यक्ति ..

Sweta sinha ने कहा…

सुखद एहसास हुआ।
सार्थक और सारगर्भित रचना और बहुत सुंदर ब्लॉग लिंक।
अनवरत सफ़र जारी रहे शुभकामनाएँ।🙏🙏

yashoda Agrawal ने कहा…

जिन्दाबाद-जिन्दाबाद
अच्छा लगा
सादर नमन

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

बिना किसी जीत हार के बातों का सिलसिला शुरू हो जाए..वाह! आनन्द दायक।

noopuram ने कहा…

बात बहुत अच्छी लगी ।
सादर धन्यवाद, रश्मि जी ।

Jyoti Dehliwal ने कहा…

बहुत सुंदर बात रश्मि दी कि बातों का सिलसिला शुरू तो किया जाए।

Md Shoyab ने कहा…

pyaar ka satellite song lyrics


Ye Toh Sach Hai Ki Bhagwan Hai lyrics

chahun main ya na lyrics

Unknown ने कहा…

Admin
This is most important Question for CCC

( Read More )

Unknown ने कहा…

Admin
This is most important Question for CCC

( Read More )

Vijay bhan Sir ने कहा…

This is good information sir( Click here )

Teach VIJAY JI ने कहा…

whatsapp status video download click here

Vijay bhan Sir ने कहा…

Click Here DOWNLOAD Best Whatsapp status video

Vijay bhan Sir ने कहा…

this is too good information

Vijay bhan Sir ने कहा…

Good information nice

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार