Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 20 मई 2015

कवि सुमित्रानंदन पन्त और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा हार्दिक नमस्कार!!

कवि सुमित्रानंदन पन्त 
आज स्वतन्त्रता सेनानी और हिन्दी के महान कवि सुमित्रानंदन पन्त जी का 115वां जन्म दिवस है।  सुमित्रानंदन पन्त जी का जन्म 20 मई, सन् 1900 ई. को कौसानी ग्राम, उत्तराखण्ड, भारत में हुआ था। पन्त जी का वास्तविक नाम गुसाईं दत्त था। प्रकृति के सुकुमार कवि सुमित्रानन्दन पन्त जी की प्रारम्भिक शिक्षा कौसानी ग्राम की ही पाठशाला में हुई। असहयोग आन्दोलन के समय इन्होंने कॉलेज छोड़ दिया। पन्त जी की प्रमुख काव्य रचनाएँ हैं :- वीणा, ग्रंथि, पल्लव, गुंजन, युगवाणी, ग्राम्या, स्वर्णकिरण, स्वर्णधूलि, उत्तरा, युगपथ, चिदंबरा आदि। कवि पन्त जी ने एक कहानी संग्रह - पांच कहानियाँ (1938) और उपन्यास हार (1960) भी लिखा था। इनकी साहित्यिक सेवा के लिए भारत सरकार ने इन्हें देश के तीसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान "पद्म भूषण" के साथ - साथ "ज्ञानपीठ पुरस्कार" और साहित्य अकादमी पुरस्कार से भी विभूषित किया। कवि सुमित्रानंदन पन्त जी का निधन 28 दिसम्बर, सन् 1977 ई. को हुआ।


आज हिन्दी के महानायक कवि सुमित्रानंदन पन्त जी को हम सब याद करते हुए उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते है। सादर।।

हर्षवर्धन श्रीवास्तव


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर  .......... 














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल  फिर मिलेंगे। सादर।।

14 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुंदर सूत्रों के साथ आज का बुलेटिन पेश किया है हर्ष ।

HARSHVARDHAN ने कहा…

हार्दिक धन्यवाद सुशील सर जी।

Tushar Rastogi ने कहा…

सबसे पहले बुलेटिन फिर से शुरू करने के लिए और सभी मित्रों का उसमें सहयोग करने के लिए दिल से धन्यवाद | हर्ष बहुत ही सुन्दर बुलेटिन | पंत जी को जन्मदिवस की हार्दिक शुभकामनायें और श्रद्धांजलि | सूत्र भी बढ़िया चुने हैं | जय हो - मंगलमय हो - हर हर महादेव...

Parveen Chopra ने कहा…

बहुत सही लगा जी....आपका प्रयास..
लगे रहिये।

Parveen Chopra ने कहा…

बहुत सही लगा जी....आपका प्रयास..
लगे रहिये।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

हिन्दी के महानायक कवि सुमित्रानंदन पन्त जी को शत शत नमन |

बढ़िया बुलेटिन हर्ष |

रश्मि प्रभा... ने कहा…

नमन

Manoj Kumar ने कहा…

महान कवि सुमित्रानँदनपंत जी को नमन , सभी अच्छी पोस्ट का संग्रह शुक्रिया हर्ष !

sadhana vaid ने कहा…

सुन्दर सार्थक सूत्र ! पन्त जी को सादर नमन !

राजीव कुमार झा ने कहा…

बहुत सुंदर सूत्र. मुझे भी शामिल किया,आभार !
बुलेटिन की पुनः शुरुआत,सार्थक पहल.

Aparna Sah ने कहा…

sndar sutr...Pant ji ko naman.

dj ने कहा…

सुन्दर लिंक्स का समायोजन हर्ष जी

Vidyut Prakash Maurya ने कहा…

सार्थक प्रयास

Poornima Dubey ने कहा…

मेरे ब्लॉग लिंक को शमिल करने के लिए तहे हृदय से धन्यवाद

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार