Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 15 अप्रैल 2018

शाबाश टीम इंडिया !!

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

जिस हिसाब से अब की बार कॉमनवेल्थ गेम्स में पदक मिले हैं, कोई ताज़्ज़ुब नहीं कि मोदी सरकार पर कॉमनवेल्थ गेम्स हैक करने का भी आरोप लगा दिया जाए। 😜

"ईवीएम का बटन कोई सा दबाओ, वोट बीजेपी को मिलता है" की तर्ज़ पर खेल कोई सा हो पदक भारत को मिल रहा है।

पर क्या आप ने सोचा ऐसा क्यों हो रहा है इस से पहले तो ऐसा प्रदर्शन देखने को नहीं मिलता था खिलाड़ियों से, फ़िर अब की बार ऐसा कौन सा चमत्कार हो गया !?

ये तो आप भी मानेंगे कि एक खिलाड़ी को जब तक विश्व स्तरीय ट्रेनिंग, साजोसामान, रहन सहन खान पान की सुविधाओं से लैस माहौल नहीं मिलेगा तब तक वो अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन नहीं कर सकता।

इस से पहले तक देखा गया है कि खिलाड़ियों के लिए आवंटित सरकारी बजट का बहुत ही कम हिस्सा खिलाड़ियों पर खर्च होता था, अधिकांश भाग तो मंत्री या अधिकारी ही चट कर जाते थे।

ये स्थिति बदली है। एक पूर्व ओलंपियन पदक विजेता को खेल मंत्री बनने का लाभ मिलता दिखाई देता है।

राजनीति को दरकिनार करते हुए सोचिएगा क्या अब की बार कॉमनवेल्थ गेम्स में मिली व्यापक सफ़लता से एक भारतीय के तौर पर आप का सीना चौड़ा नहीं होता !?

मेरा तो होता है ... शाबाश टीम इंडिया !! 🇮🇳

सादर आपका
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

जहां गिनती खत्म हो, वहां शुरु होती है बराबरी












~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

4 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

शाबाश। सुन्दर बुलेटिन।

Kavita Rawat ने कहा…

विश्व स्तरीय ट्रेनिंग, साजोसामान, रहन सहन खान पान की सुविधायें मिले तो पदक झोली में आएंगे ही। बहुत अच्छा लगता है जब हमारे भारत का नाम होता है। बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

पहले और अब में बहुत अंतर आया है। यह सब खिलाड़ियों की जागरूकता, दक्षता, आत्मविश्वास और मीडिया की सजगता के कारण संभव हो पाया है। कमी पहले भी नहीं थी पर अवसर नहीं मिल पाते थे करप्शन के कारन !!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार