Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 10 जनवरी 2018

विश्व हिन्दी दिवस और ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिन्दी ब्लॉगर्स को सादर नमस्कार।
विश्व हिन्दी दिवस (अंग्रेज़ी: World Hindi Day) प्रत्येक वर्ष 10 जनवरी को पूरे विश्व में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिये जागरूकता पैदा करना तथा हिन्दी को अन्तराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है। विदेशों में भारत के दूतावास इस दिन को विशेष रूप से मनाते हैं। सभी सरकारी कार्यालयों में विभिन्न विषयों पर हिन्दी में व्याख्यान आयोजित किये जाते हैं।
विश्व में हिन्दी का विकास करने और इसे प्रचारित-प्रसारित करने के उद्देश्य से विश्व हिन्दी सम्मेलनों की शुरुआत की गई और प्रथम विश्व हिन्दी सम्मेलन 10 जनवरी, 1975 को नागपुर में आयोजित हुआ था। इसीलिए इस दिन को विश्व हिन्दी दिवस के रूप में मनाया जाता है। भारत के पूर्व प्रधानमन्त्री डॉ. मनमोहन सिंह ने 10 जनवरी, 2006 को प्रति वर्ष विश्व हिन्दी दिवस के रूप मनाये जाने की घोषणा की थी। उसके बाद से भारतीय विदेश मंत्रालय ने विदेश में 10 जनवरी 2006 को पहली बार विश्व हिन्दी दिवस मनाया था। इसका उद्देश्य विश्व में हिन्दी के प्रचार-प्रसार के लिये जागरूकता पैदा करना तथा हिन्दी को अन्तराष्ट्रीय भाषा के रूप में पेश करना है। विदेशों में भारत के दूतावास इस दिन को विशेष रूप से मनाते हैं। सभी सरकारी कार्यालयों में विभिन्न विषयों पर हिन्दी में व्याख्यान आयोजित किये जाते हैं।







9 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

हिन्दी दिवस पर सभी हिन्दी प्रेमियों को शुभकामनाएं। सुन्दर बुलेटिन। आभार हर्षवर्धन 'उलूक'के सूत्र को भी स्थान देने के लिये।

Ravindra Singh Yadav ने कहा…

10 जनवरी विश्व हिन्दी दिवस पर ब्लॉग बुलेटिन की प्रस्तुति श्लाघनीय है.

yashoda Agrawal ने कहा…

शुभ प्रभात...
हिन्दी दिवस पर शुभ कामनाएँ
आभार....
सादर

Harsh Wardhan Jog ने कहा…

हिंदी दिवस की शुभकामनाएं.
'न्यूज़ीलैण्ड यात्रा' शामिल करने के लिए धन्यवाद.

Anita ने कहा…

विश्व हिंदी दिवस पर शुभकामनायें..ब्लॉग बुलेटिन के आज के अंक में में मुझे शामिल करने के लिए आभार ! एक से बढ़कर एक सूत्र,बधाई !

डॉ टी एस दराल ने कहा…

हिंदी दिवस पर सुन्दर संकलन।

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति ...

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

हर्ष जी, आपका और ब्लॉग बुलेटिन हार्दिक धन्यवाद

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार