Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 12 जनवरी 2018

स्वामी विवेकानन्द जी की १५५ वीं जयंती - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |


"सभी मरेंगे- साधु या असाधु, धनी या दरिद्र- सभी मरेंगे। चिर काल तक किसी का शरीर नहीं रहेगा। अतएव उठो, जागो और संपूर्ण रूप से निष्कपट हो जाओ। 


भारत में घोर कपट समा गया है। चाहिए चरित्र, चाहिए इस तरह की दृढ़ता और चरित्र का बल, जिससे मनुष्य आजीवन दृढ़व्रत बन सके।"

- स्वामी विवेकानन्द

ब्लॉग बुलेटिन टीम और हिन्दी ब्लॉग जगत की ओर से स्वामी विवेकानन्द जी की १५५ वीं जयंती के अवसर पर उनको शत शत नमन |


सादर आपका

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

विवेकानंद जयंती : तुम्हारी आत्मा के अलावा कोई और गुरु नहीं है
बचपन
दो नन्हे शावक
ठंड
दूधनाथ सिंह : एक प्रतिबद्ध स्वर
विवेकानंद और वेश्या.. सोशल मीडिया के युग मे एक क्रांतिकारी विचार.. पढ़िए तो!
हवाई द्वीप - सृष्टी के बदलते रँग
सर्दी ने ढाया सितम
फिल्मों को जरुरत है, स्वस्थ दिलो-दिमाग वाले निर्माताओं की
आपकी अदालत में कुमार विश्वास
महान क्रान्तिकारी सूर्य सेन "मास्टर दा" की ८४ वीं पुण्यतिथि
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

10 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

नमन हे युगपुरुष नमन।

parmeshwari choudhary ने कहा…

स्वामी विवेकानन्द को शत शत नमन . आज के बुलेटिन में यात्रानामा शामिल करने के लिए आभारी हूँ .

Ravindra Singh Yadav ने कहा…

युवाओं के प्रेरणास्त्रोत स्वामी विवेकानंद जी के जन्म दिवस पर उन्हें सादर नमन। ब्लॉग बुलेटिन की सुंदर प्रस्तुति।

Ravindra Singh Yadav ने कहा…

प्रसिद्द कहानीकार एवं आलोचक स्वर्गीय दूधनाथ सिंह जी को हमारी ओर से विनम्र श्रद्धांजलि।

ARUN SATHI ने कहा…

सारगर्भित पोस्ट , बहुत बहुत आभार

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति
युवा प्रेरणा स्त्रोत स्वामी विवेकानंद जी को नमन!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

Jyoti Khare ने कहा…

अप्रितम कहानीकार दूधनाथ सिंह जी को विनम्र श्रद्धांजलि

Jyoti Khare ने कहा…

सार्थक प्रस्तुति
सादर

Maheshwari kaneri ने कहा…

सुन्दर सार्थक प्रस्तुति

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार