Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 12 नवंबर 2017

डॉ. सालिम अली - राष्ट्रीय पक्षी दिवस - ब्लॉग बुलेटिन

सभी हिन्दी ब्लॉगर्स को मेरा नमस्कार।
सालिम अली (अंग्रेज़ी:Salim Ali, पूरा नाम: 'सालिम मोइज़ुद्दीन अब्दुल अली', जन्म: 12 नवम्बर, 1896; मृत्यु: 27 जुलाई, 1987) एक भारतीय पक्षी विज्ञानी और प्रकृतिवादी थे। सालिम अली को भारत के बर्डमैन के रूप में जाना जाता है। सलीम अली भारत के ऐसे पहले व्यक्ति थे, जिन्होंने भारत भर में व्यवस्थित रूप से पक्षी सर्वेक्षण का आयोजन किया और पक्षियों पर लिखी उनकी किताबों ने भारत में पक्षी-विज्ञान के विकास में काफ़ी मदद की है। सन् 1906 में दस वर्ष के बालक सालिम अली की अटूट जिज्ञासा ने ही पक्षी शास्त्री के रूप में उन्हें आज विश्व में मान्यता दिलाई है। पक्षियों के सर्वेक्षण में 65 साल गुजार देने वाले इस शख़्स को परिंदों का चलता फिरता विश्वकोष कहा जाता था। पद्म विभूषण से नवाजे इस 'परिंदों के मसीहा' के प्रकृति संरक्षण की दिशा में किए गए प्रयासों को कभी भुलाया नहीं जा सकता है।


राष्ट्रीय पक्षी दिवस प्रत्येक वर्ष '12 नवम्बर' को मनाया जाता है। 12 नवम्बर (1896) डॉ. सालीम अली का जन्म दिवस है, जो कि विश्वविख्यात पक्षी विशेषज्ञ थे। इन्हें भारत में "पक्षी मानव" के नाम से भी जाना जाता था।


  • पक्षी विशेषक्ष सालिम अली के जन्म दिवस को 'भारत सरकार' ने राष्ट्रीय पक्षी दिवस घोषित किया हुआ है।
  • सालिम अली ने पक्षियों से सम्बंधित अनेक पुस्तकें लिखी थीं। 'बर्ड्स ऑफ़ इंडिया' इनमें सबसे लोकप्रिय पुस्तक है।
  • डाक विभाग ने इनकी स्मृति में डाक टिकट भी जारी किया है।
  • वर्ष 1958 में सालिम अली को 'पद्मभूषण' तथा 1976 में 'पद्मविभूषण' से अलंकृत किया गया था।



आज भारत के प्रसिद्ध पक्षी वैज्ञानिक डॉ. सालिम अली जी के 121वें जन्म दिवस पर हम सब उनको शत शत नमन करते हैं।

~ आज की बुलेटिन कड़ियाँ ~














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर .... अभिनन्दन।।

6 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

राष्ट्रीय पक्षी दिवस पर डा0 सालिम अली जी को नमन। आभार हर्षवर्धन पक्षियों के दिन पक्षी 'उलूक' चिंतन को भी शामिल करने के लिये।

मुकेश पाण्डेय चन्दन ने कहा…

नमन सलीम को । हर्षवर्धन जी हमने एक ब्लॉग गौरैया नाम से बनाया था !

HARSHVARDHAN ने कहा…

मुकेश सर जी,,, आज भी वो ब्लॉग है और अपडेट होता है, लेकिन कल समयाभाव होने की वजह से अपडेट नहीं हो पाया!

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति

रौशन जसवाल विक्षिप्‍त ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
रौशन जसवाल विक्षिप्‍त ने कहा…

आभार आपने प्रोत्‍साहित किया

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार