Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 14 जुलाई 2017

प्यार का मोड़ और गूगल मॅप

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |


 बहुत कोशिश की लेकिन Google Map अभी तक नहीं बता पाया कि, प्यार हमें किस मोड़ पर ले आया।

जो मित्र इस लतीफ़े को न समझ पाये हो वो नीचे दिये वीडियो को देख लें ...

 सादर आपका

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

पंद्रह लाख वाला भरोसा

जागो ग्राहक जागो

बरसात

जाग जाओ देश मिलकर है बचाना

छ्त्तीसगढ की भैरी भौजी

लेखनी

कि यादों के मौसम रोज़ नहीं आते... !!

नाम शबाना

मदरसों की शिक्षा में परिवर्तन आज की ज़रूरत है

उपकार तुम्हारा

रात सुरमई

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ... 

जय हिन्द !!!

7 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बढ़िया प्रस्तुति शिवम जी।

yashoda Agrawal ने कहा…

शुभ संध्या
सारी रचनाए अनपढ़ी
आभार..कल दिल भर कट जाएगा सुकून से
सादर

shashi purwar ने कहा…

sundar buletin abhar hamen shamil karne ke liye

sadhana vaid ने कहा…

बहुत सुन्दर सूत्र शिवम् जी ! मेरी रचना को साम्मिलित करने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया !

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

बहुत सुंदर, आभार.
रामराम
#हिन्दी_ब्लॉगिंग

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

Shah Nawaz ने कहा…

बढ़िया प्रयास शिवम भाई, मेरी ब्लॉग-पोस्ट को लिंक करने के लिए धन्यवाद!

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार