Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 3 मई 2017

विश्व हास्य दिवस - अंतरराष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।
विश्व हास्य दिवस का प्रतीक चिन्ह
विश्व हास्य दिवस (अंग्रेज़ी: World Laughter Day) प्रत्येक वर्ष 'मई' माह के प्रथम रविवार को मनाया जाता है। मनोवैज्ञानिक प्रयोगों से यह स्पष्ट हुआ है कि अधिक हँसने वाले बच्चे अधिक बुद्धिमान होते हैं। हँसना सभी के शारीरिक व मानसिक विकास में अत्यंत सहायक है। जापान के लोग अपने बच्चों को प्रारंभ से ही हँसते रहने की शिक्षा देते हैं। इस समय जब अधिकांश विश्व आतंकवाद के डर से सहमा हुआ है, तब 'विश्व हास्य दिवस' की अत्यधिक आवश्यकता महसूस होती है। इससे पहले इस दुनिया में इतनी अशांति कभी नहीं देखी गई। आज हर व्यक्ति के अंदर कोहराम मचा हुआ है। ऐसे में हंसी दुनियाभर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार कर सकती है।



अंतरराष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस
अंतरराष्ट्रीय प्रेस स्वतंत्रता दिवस (अंग्रेज़ी: World Press Freedom Day) प्रत्येक वर्ष '3 मई को मनाया जाता है। प्रेस किसी भी समाज का आइना होता है। प्रेस की आज़ादी से यह बात साबित होती है कि उस देश में अभिव्यक्ति की कितनी स्वतंत्रता है। भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में प्रेस की स्वतंत्रता एक मौलिक जरूरत है। आज हम एक ऐसी दुनिया में जी रहे हैं, जहाँ अपनी दुनिया से बाहर निकल कर आसपास घटित होने वाली घटनाओं के बारे में जानने का अधिक वक्त हमारे पास नहीं होता। ऐसे में प्रेस और मीडिया हमारे लिए एक खबर वाहक का काम करती हैं, जो हर सवेरे हमारी टेबल पर गरमा गर्म खबरें परोसती हैं। यही खबरें हमें दुनिया से जोड़े रखती हैं। आज प्रेस दुनिया में खबरें पहुंचाने का सबसे बेहतरीन माध्यम है।





आज की बुलेटिन में सिर्फ इतना ही कल फिर मिलेंगे तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर ...अभिनन्दन।।  

8 टिप्पणियाँ:

अर्चना चावजी Archana Chaoji ने कहा…

जानकारी देते रहने से बुलेटिन ने अपनी अलग पहचान बनाई हुई है। ..आभार जानकारी के लिए। ..

कुछ नई लिंक भी मिले है। .. मेरे ब्लॉग को शामिल करने के लिए धन्यवाद

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

कुछ सूत्र सूत्रों से मिलते हैं गले । जरूरी है यहाँ मिलना । कुछ मिलना तभी हो पाता है जब जानकारी होती है । जानकारी होना जरूरी होता है मिलने के लिये बाकि सब समझदारी है । बहुत सुन्दर प्रस्तुति हर्षवर्धन आभार 'उलूक' के सूत्र की समय पर जानकारी देने के लिये ।

sadhana vaid ने कहा…

पठनीय सूत्रों का बेहतरीन संकलन ! आज के बुलेटिन में मेरी प्रस्तुति, 'नमन तुम्हें हे भुवन भास्कर' को सम्मिलित करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद एवं आभार हर्षवर्धन जी !

शिवम् मिश्रा ने कहा…

शानदार प्रस्तुति हर्ष।

Sudha Devrani ने कहा…

उम्दा संकलन....

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति

Bhagat Singh Panthi ने कहा…

मेरी पोस्ट शामिल करने के लिये आपका बहुत बहुत धन्यवाद!

HARSHVARDHAN ने कहा…

आप सभी का सादर .... अभिनन्दन।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार