Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 15 मई 2017

अपहरण और फिरौती

आज शिवम भैया का जन्मदिन है.... पूरे बुलेटिन परिवार और हिंदी ब्लॉग जगत की ओर से उन्हें शुभकामनाएं एवं बधाई।
-------------
बुलेटिन में आज आपको एक गंभीर विषय के बारे में बताता हूँ। पिछले तीन चार दिनों से दुनिया के कम्प्यूटर एक विचित्र वायरस से जूझ रहे हैं। यह एक विशेष प्रकार का रैंसम-वेयर है जो इंटरनेट के जरिये कम्प्यूटर एन्क्रिप्ट कर देता है और फिर दुबारा डिक्रिप्ट करने के लिए तीन सौ डॉलर की फिरौती मांगता है। आम बोलचाल की भाषा में कहूँ तो कम्प्यूटर का अपहरण और फिरौती वाला मामला समझिये। यूरोप की कई बड़ी कंपनियां इसकी चपेट में आ चुकी हैं। रूस के सरकारी कम्प्यूटर भी इसके संपर्क में आकर बेकार हो चुके हैं। यूरोप की ही किसी कंपनी ने इसका एन्टी-वायरस बना लिया है लेकिन अभी उसका डिप्लॉयमेंट होने में समय है। 

कम्प्यूटर वायरस से कैसे बचें? 

1. मित्रों, फिशिंग को समझे: यह आपके कंप्यूटर में स्टोर आपकी जानकारी को ब्राउज़र की कुकी के माध्यम से चोरी करने का पुराना तरीका है।
बचाव: जब भी इंटरनेट पर कुछ खोज रहे हों तो इंकॉग्निटो मोड (क्रोम), प्रायवेट मोड(फायरफॉक्स) में खोलें। किसी भी मेल का उत्तर लिखने या मेल में किसी लिंक पर क्लिक करने के पहले भेजने वाले व्यक्ति या मेल को जांच समझ लें।
2. कम्प्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर: जैसे विंडोज या मैक: जहाँ तक हो सके लेटेस्ट सिक्युरिटी पैच से अपडेट रखें
3. एन्टी-वायरस: इंसटाल जरूर करें लेकिन सोच समझ कर। नार्मल एन्टी-वायरस और इंटरनेट सिक्युरिटी का अंतर पहचाने।
4. उल्टी सीधी वेब-साइट्स पर जाना बंद करें
5. पेन-ड्राइव इस्तेमाल करते हों तो सावधान: यह सबसे सरल माध्यम है सो एन्टी-वायरस स्कैन के बाद ही डेटा फ़ाइल ओपन करें
6. साइबर कैफे चलाने वाले मेरे मित्र ओपन- सोर्स ऑपरेटिंग सिस्टम जैसे उबुन्टु इस्तेमाल करें। आप पाई कंप्यूटर लगाकर अपनी लागत को एक चौथाई से भी कम कर सकते हैं और यह सुरक्षित भी है।

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~ 

बेबसी पर वह हमारी खिलखिला कर चल दिये

केरल डायरीज़ - ४ : साहिर सुबह पहाड़ों की...

मिट्टी का जिस्म लेकर चले खुद की तलाश में

वह लड़का

इस उम्रदराज युगल को सलाम है

ये क्या है ?

अमर शहीद सुखदेव जी की ११० वीं जयंती

बेटी-माँ.

टेलिफोन की याद में

साहब..मैं कुत्ता हूँ..

संस्मरण- ...उनकी सांसे बेसन में अटकी थी!

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

10 टिप्पणियाँ:

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

बहुत सामयिक और महत्वपूर्ण पोस्ट!
और एक बात बिलकुल पसन्द नहीं आई... ये सूनी सूनी पोस्ट के साथ शिवम् का जन्मदिन मनाना!! जीते रहिये शिवम् बाबू! मेरी तो उम्र ही बहुत कम रह गयी है, वरना कह देता कि मेरी उम्र भी आपको लग जाए!!

Jyoti Dehliwal ने कहा…

मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद।
शिवम जी को जन्मदिन की बहुत बहुत बधाई।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

शिवम जी को सपरिवार बधाई।

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं शिवम जी के जन्मदिन पर। सुन्दर बुलेटिन।

Sudha Devrani ने कहा…

बहुत ही उम्दा रचनाएं

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

जन्म दिन हेतु शुभ कामनाएँ शिवम् जी ,मन लगाकर पढ़ा जा सकनेवाला रुचिकर बुलेटिन .
आपका आभार भी!

Dr Kiran Mishra ने कहा…

मेरी पोस्ट को स्थान देने के लिए आभार। बेहतरीन बुलेटिन शिवम् जी को जन्म दिन की शुभकामनाएं।

Dr Kiran Mishra ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन प्रस्तुति!
शिवम् जी को जन्म दिन की बहुत-बहुत हार्दिक शुभकामनाएं।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

मेरे जन्मदिन को आप सब की शुभकामनाओं ने मेरे लिए और भी ख़ास बना दिया।

धन्यवाद तो नहीं कहूँगा पर हाँ यह अनुरोध जरूर करूँगा कि यह स्नेह बनाये रखियेगा।

सादर।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार