Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 12 अप्रैल 2017

नयी बहु - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

आज आपको भारतीय मोबाइल परिवार की बहुओं के बारे मे बता रहा हूँ... 
 
बड़ी बहु BSNL शांत स्वभाव हमेशा घूंघट ओढ़े रहती थी। नो नेटवर्क प्रॉब्लम।

फिर बाद में दूसरी बहुएं आईं,

सुंदर लालपरी सी Airtel कुछ ही सैकेंड में सारे काम।

Modern बहु Idea आई। जो दुनिया बदल देती थी।

गोरी-चिट्टी विदेशी मेम Vodafone भी आई बहु बनकर।

जैसे-तैसे सब अपने अपने पत्नी धर्म निभा रही थीं.....

कि ना जाने कहाँ से ये लटके झटके दिखाती, बलखाती, सबके होश उड़ाती, छप्पन छुरी Jio आ गई।

जो सौतन बनकर सारी बहुओं का जीना हराम कर रही है।
 
सादर आपका

9 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

जय हो बहुओं की । सुन्दर बुलेटिन।

Dr Kiran Mishra ने कहा…

पोस्ट को शामिल करने के लिए सादर आभार। आप के बेहतरीन ब्लॉग को शुभकामनाएं।

Jyoti Dehliwal ने कहा…

भारतीय मोबाइल परिवार की बहुओं के बारे मे सिर्फ इतना ही कहना चाहती हूं कि भारतीय बहुओं को सौतनों से निपटना आता है।
मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।

Kavita Rawat ने कहा…

मोबालिया बहुओं का ही जमाना है
बहुत सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति

जेपी हंस ने कहा…

मेरे पोस्ट को आपने शामिल किया...बहुत बहुत शुक्रिया...

yashoda Agrawal ने कहा…

वाह....
मैं तो नेट जियो से ही चला रही हूँ
जो 11 अगस्त तक एकदम फ्री है.....
एक अच्छी बुलेटिन
सादर

Anil Sahu ने कहा…

बहुत अच्छा.
बहुएं तो बहुएं होती हैं. इन्हें निभाना हमारा धर्म होता है.

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार|

Asha Joglekar ने कहा…

देर से आई क्षमाप्रार्थी हूँ । बहुत धन्यवाद आपका।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार