Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 30 सितंबर 2016

भाखड़ा नंगल डैम पर निबंध - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

हिंदी की परीक्षा में "भाखड़ा नांगल डैम" पर निबंध लिखने को आया। एक अतिप्रतिभावान छात्र ने निबंध के नाम पर जो कुछ लिखा वो आप के अवलोकन हेतु प्रस्तुत है ... 

 
भाखड़ा नांगल डैम सतलज नदी पर बना हुआ है। 
सतलज नदी पंजाब में है। 
पंजाब सरदारो का देश है। 
सरदार पटेल भी एक सरदार थे। 
उन्हें भारत का लौह पुरुष कहा जाता है। 
लोहा टाटा में बनता है। 
टाटा हाथ से किया जाता है। 
क़ानून के हाथ बड़े लंबे होते हैं। 
पंडित जवाहर लाल नेहरू भी क़ानून जानते थे। 
उन्हें बच्चे चाचा नेहरू के नाम से पुकारते थे। 
चाचा नेहरू को गुलाब बहुत पसंद था। 
गुलाब 3 किस्म के होते हैं। 
पीने वाला शरबत, खिलने वाला और गुलाबरी होता है।
 गुलाबरी बहुत मीठा होता है। 
मीठी तो चीनी भी होती है। 
चीनी अक्सर चींटी खाती है। 
हाथी की चींटी से सख्त नफरत है। 
लन्दन का हाथी बहुत विख्यात है। 
लन्दन जर्मनी के पास है। 
जर्मनी का वार बहुत फेमस है। 
वार 8 तरह के होते हैं.... 
सोमवार, मंगलवार, बुधवार, गुरुवार, शुक्रवार, शनिवार, रविवार और वर्ल्डवार। 
वर्ल्ड वार बहुत खतरनाक होते हैं। 
खतरनाक तो शेर भी होता है। 
40 सेर का एक मन होता है। 
मन बहुत चंचल होता है। 
चंचल मेरे पीछे बैठती है। 
चंचल मधुबाला की छोटी बहन है। 
मधुबाला ने फ़िल्म शक्ति में काम किया है। 
शक्ति मुठ्ठी में होती है। 
छोटे छोटे झगडे में मुठ्ठी बांध कर मारने का शौक़ पंजाबियों का होता है। 
पंजाबी पंजाब में रहते हैं। 
पंजाब में भाखड़ा नांगल डैम है। 
 
कॉपी चेक करने वाला आज भी इस अद्भुत बालक को ढूंढ रहा हैं।
 
सादर आपका

अललटप्पू.

प्रतिभा सक्सेना at लालित्यम् 

आदिशक्ति

रश्मि प्रभा... at मेरी भावनायें...  
 
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
 
अब आज्ञा दीजिये ...
 
जय हिन्द !!! 

8 टिप्पणियाँ:

अजय कुमार झा ने कहा…

हा हा हा हा हा हा हा हा अन्ताक्षरीनुमा निबंध .....बहुत अच्छे महाराज , गजब समाँ बाँध दिए हैं आप | सन्नाट बुलेटिन शिवम् भाई

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

वाह बहुत सुन्दर शिवम जी ।

संध्या शर्मा ने कहा…

बहुत बढ़िया निबंध :)
सुन्दर लिंक संकलन। स्थान देने हेतु आभार सहित शुभकामनाएं। जय हिन्द...

Amrita Tanmay ने कहा…

हँसी का डैम टूट गया । बहुत बढ़िया ।

मनोज भारती ने कहा…

आजकल व्हॉट्स अप बहुत सुंदर जानकारियां प्रस्तुत कर रहा है। इस निबंध की वहां भी बहुत धूम रही। सुंदर लिंक के लिए धन्यवाद !!!

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

अच्छा किया पते की बातों से शुरुआत की,सारी लिंक्स पढ़ते मन हल्का-फुल्का रहा.

राजा कुमारेन्द्र सिंह सेंगर ने कहा…

यही बालक किसी पद पर विराजमान है.

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार