Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 29 जून 2016

सांख्यिकी दिवस और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।।

सांख्यिकी दिवस ( Statistics Day) भारत में प्रत्येक वर्ष '29 जून को मनाया जाता है। यह महत्त्वपूर्ण प्रसिद्ध भारतीय वैज्ञानिक एवं सांख्यिकीविद पी. सी. महालनोबिस के आर्थिक योजना और सांख्‍यि‍की विकास के क्षेत्र में उल्‍लेखनीय योगदान के सम्‍मान में मनाया जाता है।
पी. सी. महालनोबिस
स्‍वतंत्रता के बाद आर्थिक योजना तथा सांख्‍यिकीय विकास के क्षेत्र में प्रोफ़ेसर पी. सी. महालनोबिस द्वारा किए गए उल्‍लेखनीय योगदान को ध्‍यान में रखते हुए 'भारत सरकार' ने प्रतिवर्ष उनके जन्‍म दिवस '29 जून' को राष्‍ट्रीय स्‍तर पर विशेष दिवस की श्रेणी के अंतर्गत रखकर "सांख्‍यिकी दिवस" के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। इस आशय की अधिसूचना दिनांक 5 जून, 2007 को भारत के राजपत्र में प्रकाशित की गई थी। यह दिवस राष्‍ट्रीय विकास में सरकारी सांख्‍यिकी के महत्त्व को उजागर करने के लिए संगोष्‍ठियों, चर्चाओं तथा प्रतियोगिताओं को आयोजित करके मनाया जाता है।

[ जानकारी स्त्रोत - http://bharatdiscovery.org/india/सांख्यिकी_दिवस ]


अब चलते हैं आज कि बुलेटिन की ओर....


बेटियों का अपराध

जगदेव परमार

उदन्‍तपुरी में है हि‍रण्‍य पर्वत

साइकिल के साथ तैराकी का लुत्फ़

अहसानमंद

सापेक्षता की समझ

बनो दीप से !

सच क्या है

उठो

मैंने घर नहीं, एक मकान बनाया है....


आज की बुलेटिन में बस इतना ही, कल फिर मिलेंगे। तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर...अभिनन्दन।।


7 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

साख्यिकी दिवस पर सुन्दर सूत्र संयोजन किया है हर्षवर्धन ।

रेखा श्रीवास्तव ने कहा…

अच्छे लिंक मिले और सांख्यिकी दिवस की जानकारी के लिए आभार !

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति हेतु अाभार!

Anita ने कहा…

सांख्यिकी दिवस के अवसर पर श्री पी सी महालनोबिस से परिचय करवाने के लिए आभार, पठनीय सूत्रों से सजा बुलेटिन.

रश्मि शर्मा ने कहा…

सांख्यिकी दिवस पर बहुत बढ़ि‍या बुलेटि‍न। मेरी रचना शामि‍ल करने के लि‍ए आभार ।

आधारभूत ब्रह्माण्ड ने कहा…

हमारी रचना शामिल करने के लिए आपका आभार

शिवम् मिश्रा ने कहा…

पी. सी. महालनोबिस साहब को सादर नमन | सार्थक बुलेटिन हर्ष ... आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार