Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 30 मई 2016

मिट्टी के घड़े - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

"उन घरों में जहाँ मिट्टी के घड़े रहते हैं;
क़द में छोटे हों मगर लोग बड़े रहते हैं..."

सादर आपका
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

सुन जीवन !

लोग अपनों के हुनर पर फब्तियां कसने लगे

सन्डे क्रिकेट- पार्ट टू [पार्ट वन- "सन्डे मैच- त्यागी उवाच की सेंचुरियन पोस्ट"]

स्कूल फीस और लोकतान्त्रिक तानाशाही

कलम नहीं चला पाई

वो

ईमानदार सरकार के शानदार दो साल

जवान होता एक बूढ़ा घर..

नारी शोषण

दोहे !

एक पाती विद्यार्थियों के नाम 

~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

6 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बढ़िया बात से शुरु बढ़िया सोमवारीय बुलेटिन ।

Rekha Joshi ने कहा…

bahut badhiya ब्लॉग बुलेटिन ,meri rachna ko shamil karne pr hardik abhar

Kavita Rawat ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति
आभार!

अर्चना तिवारी ने कहा…

बहुत अच्छी बुलेटिन...शुक्रिया

Asha Saxena ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन |मेरी कविता की लिंक शामिल करने के लिए आभार शिवम् जी |

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार