Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 1 मई 2016

मजदूर दिवस, बाल श्रम, आप और हम

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

मिलिये छोटू से ...

इस की इस मुस्कान पर मत जाइए साहब ... बेहद शातिर चीज़ है यह ... "देखन मे छोटो , घाव करे गंभीर" टाइप ... इस से बचना नामुमकीन है !

आप कितनी भी कोशिश कर लीजिये ... इस से आप नहीं बच सकते ... दावा है मेरा !!

गली के नुक्कड़ की चाय की दुकान हो या हाइवे का ढ़ाबा यह छोटू आप को हर जगह मिल जाता है आप चाहे या न चाहे ... और तो और कभी कभी तो आपके घर तक आ जाता है जैन साहब की दुकान से आप के महीने के राशन की 'फ्री होम डिलिवरी' करने ... कैसे बचेंगे आप और हम इस से ... कभी सोचा है !!?

जिस दिन इन जैसे मासूमों छोटूओं को मजदूर बनने से बचा लेना ... मेरे दोस्त जी भर मजदूर दिवस के गीत गा लेना !!

 
ज़रा सोचिएगा ... समय मिले तो ... वैसे जरूरी नहीं है !
सादर आपका 
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

हाशिये का नवगीत

हक़ मांग मजूरा !

तोड़ो अदृश्य स्पाती जंजीरें ...

उद्वेग

मजदूर दिवस पर एक जन - गीत

कहानी- ऐसी भी एक बहू!!

२१२. खिलौने

यह दल्ले पत्रकार किस मुंह से प्रेस क्लबों में समारोहपूर्वक मज़दूर दिवस की हुंकार भरते हैं

मजदूर दिवस !

सहरिया से आई जाओ बलमू

अमर क्रांतिकारी स्व ॰ प्रफुल्ल चाकी जी की १०८ वीं पुण्यतिथि

 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ... 

जय हिन्द !!!

10 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सटीक प्रस्तुति शिवम जी । बाल श्रमिक नियम हैं जरूर पर जरूरत कड़ाई से लाग़ु करने की है ।

Jyoti Dehliwal ने कहा…

बाल मजदूरी गंभीरता से सोचने की जरुरत है। सुन्दर प्रस्तुति। मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद।

Jyoti Dehliwal ने कहा…

बाल मजदूरी गंभीरता से सोचने की जरुरत है। सुन्दर प्रस्तुति। मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद।

Vandanagupte55 ने कहा…

पहल हमें ही करनी चाहिये। बालकों से मजदूरी ना कराकर। उनके शिक्षा दीकषा में हाथ बचा कर।

Vandanagupte55 ने कहा…

सुंदर बुलेटिन । देखते हैं बुलेटिन के आलेख भी।

vandana gupta ने कहा…

शानदार लिंक्स से सजा बुलेटिन ...........हार्दिक आभार

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत सटीक सामयिक बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत सटीक सामयिक बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

girish pankaj ने कहा…

शानदार

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार