Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 27 जनवरी 2016

ब्लॉग बुलेटिन - भारत भूषण जी की पुण्यतिथि

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।
भारत भूषण
भारत भूषण ( जन्म: 14 जून, सन् 1920 ई. - मृत्यु: 27 जनवरी सन् 1992 ई. ) हिन्दी फिल्मों के प्रसिद्ध अभिनेता थे। इन्होंने कई ऐतिहासिक चरित्रों को अपने अभिनय से एक नया जीवन प्रदान किया था। बैजू बावरा, चैतन्य महाप्रभु, कालिदास, तानसेन, संत कबीर तथा मिर्जा ग़ालिब के किरदार इन्होंने अपने फिल्मी जीवन में निभाए थे। भारत भूषण जी ने अपने पूरे फिल्मी कैरियर में कुल 143 फिल्मों में अभिनय किया था। 50 तथा 60 के दशक में भारत भूषण जी काफी लोकप्रिय हो गए थे। वर्ष 1967 ई. में प्रदर्शित फिल्म 'तकदीर' नायक के रूप में इनकी अंतिम फिल्म थी। इसके बाद भूषण जी ने आगे चलकर अधिकांश चरित्र अभिनय के रूप में ही काम किया। आगे चलकर भारत भूषण जी को फिल्मों में काम मिलना भी बंद हो गया। इसके बाद इन्होंने कुछ धारावाहिकों में ही अभिनय किया। फिल्म जगत की अनदेखी और वक्त से बुरी तरह बिछड़ चुके हिन्दी फिल्मों के स्वर्णिम युग के इस बेहतरीन अभिनेता ने आखिरकार 27 जनवरी, सन् 1992 ई. को मुम्बई में इस दुनिया को अलविदा कह दिया।

आज हम सब हिंदी फिल्म के महान अभिनेता भारत भूषण जी को याद करते हुए विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं।  

सादर।।

अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर..........














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे। तब तक के लिए शुभरात्रि। सादर  … अभिनन्दन।।

9 टिप्पणियाँ:

ई. प्रदीप कुमार साहनी ने कहा…

भारत भूषण जी को श्रद्धांजलि ।

BS Pabla ने कहा…

नई लिंक्स हेतु आभार आपका

Anita ने कहा…

भारत भूषण जी की पुण्यतिथि पर उनका स्मरण दिलाने के लिए आभार ! सुंदर सूत्र संयोजन.

pankhuri gupta ने कहा…

भारत भूषन जी को श्रधान्जली और मेरी रचना को शामिल करने हेतु हार्दिक आभार | सुन्दर लिंक्स से सजा आपका ब्लॉग अछि जानकारी मिली

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

भारत भूषण जी को श्रद्धांजलि ।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

रोचक सूत्र...

शिवम् मिश्रा ने कहा…

भारत भूषण जी को श्रद्धांजलि । बढ़िया बुलेटिन हर्ष बाबू |

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत सुन्दर बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार
भारत भूषण जी को सादर श्रद्धा सुमन!

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

भारत भूषण जी को श्रद्धांजलि ।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार