Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 7 अगस्त 2015

ब्लॉग बुलेटिन - हिरोशिमा और नागासाकी पर परमाणु हमले के 70 वर्ष

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।




साल 1945 में जापान के शहर हिरोशिमा पर 6 अगस्त और नागासाकी पर 9 अगस्त को अमेरिका ने परमाणु बम से हमला किया था। 'लिटिल बॉय' और 'फैट मैन' नामक इन परमाणु बमों ने जापान में भारी तबाही पहुँचाई। जिसका असर वहाँ की आने वाली पीढ़ियों पर जानलेवा बीमारियों से हुआ। इस भयंकर परमाणु हमले में करीब साढ़े तीन लाख लोग मारे गए और इतने ही लोग घायल हुए। इस हमले में जापान के दोनों शहरों में 90 हजार से अधिक इमारतें बर्बाद हो गयी। इस परमाणु हमले के बाद ही द्वितीय विश्व युद्ध में जापान ने आत्मसमर्पण किया और इसी दुःखद मानवीय विनाशकारी घटना के साथ द्वितीय विश्व युद्ध का अंत हुआ।


आज से 70 साल पहले हुए इस विनाशकारी हमले में मारे गए सभी लोगों को हम सभी भारतवासी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते है।


सादर
हर्षवर्धन श्रीवास्तव


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर  ……













आज की बुलेटिन में बस इतना ही। कल फिर मिलेंगे शुभरात्रि। सादर … अभिनन्दन।।

6 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

हीरोशिमा नागासाकी को याद करना इतिहास के काले हिस्से को याद करना है और आज ब्लागिंग के लिये भी एक काला दिन है बाँग्लादेशी ब्लागर निलॉय नील की हत्या से द्र्वित मन है ।

Udan Tashtari ने कहा…

जिओ!!

Anita ने कहा…

पठनीय सूत्रों से सजा ब्लॉग बुलेटिन..द्वितीय विश्व युद्ध से सबक लेकर ही सही मानव कभी तो शांति के रास्ते पर चलना सीखे..

Kavita Rawat ने कहा…

इतिहास से सबक न लिया तो फिर इतिहास बनते देर नहीं लगती। हिरोशिमा और नागासाकी इसका दुःखद उदहारण है. इस विनाशकारी हमले में मारे गए सभी लोगों को विनम्र श्रद्धांजलि।
सार्थक बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आपका आभार!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

70 साल पहले हुए इस विनाशकारी हमले में मारे गए सभी लोगों को हम विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते है।

सार्थक बुलेटिन हर्ष ... आभार |

Aparna Sah ने कहा…

achhi buletin...sabhi link achhe hain.

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार