Subscribe:

Ads 468x60px

शुक्रवार, 10 जुलाई 2015

दरोगा, जज से बड़ा - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

भरी अदालत में मुकदमा जीतने के बाद जज साहब ने बुजुर्ग को बधाई देते हुए कहा, "बाबा आप केस जीत गए।"

बुजुर्ग किसान: राम तनै... इतनी तरक्की दे कि तू "दरोगा" बण जा।

वकील बोले, "रे ताऊ "जज" तो "दरोगा" तै बहुत बड़ा हो हैं।

बुजुर्ग बोले, "ना रै मेरी नज़र मा तो दरोगा बडा है।"

वकील: वो कैसे?

बुजुर्ग: इस जज ने मुकदमा खत्म करै मे "दस साल" लगा दिये जबकि "दरोगा जी" शुरू म ही कह रहे थे 'पांच हजार रुपया दे दयो, दो दिन मे मामला रफा दफा कर दूंगा', तो हुए ना दरोगा जी जज से भी बड़े।

सादर आपका
 शिवम् मिश्रा
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

ख़ास-मुलाक़ात

करोगे याद तो - बशर नवाज

सोऽहम्

Madhavi Sharma Guleri at उसने कहा था...

‘‘व्यापमं’’कांड कितना व्यापक!

Rajeeva KhandelwalatSwatantra Vichar

शिमला यात्रा, ड्राइवर रमेश के श्रीमुख से

HARSHVARDHAN TRIPATHI at बतंगड़ BATANGAD

चैल -- एक प्राकृतिक स्थल जहाँ शहर और जंगल दोनों का लुत्फ़ एक साथ आता है ---

डॉ टी एस दरालatअंतर्मंथन

तेरे इश्क़ में खो जाता हूँ

दुष्कर्मी को ही पति बना देने वाले वैवाहिक दुष्कर्म को कैसे मानेंगे अपराध

varshaatlikh dala

जोहरा सहगल जी की पहली पुण्यतिथि

शिवम् मिश्रा at बुरा भला

बदमाश मौसम

मुहब्बत दिल में रखती हूँ मैं नफरत भूल जाती हूँ.....

***Punam***atbas yun...hi....
 ~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

7 टिप्पणियाँ:

Kavita Rawat ने कहा…

बुजुर्ग किसान ने व्यवस्था के मुंह पर करारा तमाचा मारा है
बढ़िया लिंक्स-सह-सार्थक बुलेटिन प्रस्तुति हेतु आभार!

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

जज को क्या पता दरोगा होना क्या होता है

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

दरोगा पुलिस वाला तो बस एक होता है
यहाँ तो कण कण में एक दरोगा होता है
किस दरोगा से बचाया जाये क्या क्या
दरोगा हो नहीं पाता है इधर कोई
कहीं और जा कर के दरोगा होता है ।
सुंदर बुलेटिन ।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

Devendra Gehlod ने कहा…

आपका धन्यवाद जखीरा को शामिल करने के लिए ।
कहानी से तो मने भी लगे कि दरोगा ही बडा होवे

Tushar Rastogi ने कहा…

Mast chutkula bhai ... Mazeedaar bulletin....Meri post shamil karne ke liye shukriya...jai ho mangalmay ho - :)

jyoti khare ने कहा…

सुंदर लिंक संयोजन
उत्क्रष्ट प्रस्तुति
मुझे सम्मलित करने का आभार
सादर

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार