Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 27 जुलाई 2015

गुरदासपुर आतंकी हमला और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।।



गुरदासपुर, पंजाब में आतंक ने 20 साल बाद दस्तक दी है। पाकिस्तान से आए 3 आतंकियों ने सोमवार सुबह गुरदासपुर जिले के दीनानगर में हमला कर दिया। पहले एक बस पर फायरिंग की। फिर दीनानगर पुलिस थाने के अंदर घुस गए। पुलिस और कमांडोज़ के साथ उनकी करीब 11 घंटे तक मुठभेड़ हुई। आतंकियों के पास एके-47 थी। लेकिन पुरानी एसएलआर राइफलें होने के बावजूद पंजाब पुलिस के जवानों ने उनका मुकाबला किया।



आखिर में हमारे बहादुर कमांडोज़ ने तीन आतंकियों को मार गिराया। लेकिन पंजाब पुलिस के एक एसपी बलजीत सिंह, होमगार्ड के 2 जवान और 2 पुलिसवाले शहीद हो गए। तीन आम लोगों की भी मौत हुई है। आतंकियों को छोड़कर कुल 11 मौतें हुईं। हमले के पीछे लश्कर-ए-तैयबा या जैश-ए-मोहम्मद का हाथ होने का शक है। बता दें कि 20 साल पहले अगस्त 1995 में आतंकी हमले में पंजाब के सीएम बेअंत सिंह की मौत हुई थी। गुरदासपुर में हुए हमले के बारे में केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह मंगलवार को संसद में बयान देंगे

( साभारदैनिक भास्कर डॉट कॉम


हिन्दी ब्लॉग जगत और ब्लॉग बुलेटिन टीम गुरदासपुर के आंतकी हमले में शहीद हुए जवानों और आम नागरिकों को नम आँखों से भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते है। जय हिन्द  .... जय भारत।।  


अब चलते हैं आज कि बुलेटिन की ओर  .... 














आज कि बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे। तब तक के लिए शुभरात्रि। जय हिन्द  … जय भारत।।

7 टिप्पणियाँ:

Vinay Prajapati ने कहा…

आतंकी हमले की घोर निंदा करता हूँ

Anil kumar Singh ने कहा…

Ghor Nindaneet kritya

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

चिंतनीय है आतंकवादी हमला आज का दिन देश के लिये शुभ नहीं है माननीय डा0 ऐ पी जे अब्दुल कलाम का जाना आज ही हुआ है उन्हे विनम्र श्रद्धाँजलि ।

'उलूक' का आभार हर्ष सूत्र 'समझदार को बहुत ज्यादा ही समझदारी आती है' को आज के बुलेटिन में स्थान दिया ।

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आज का दिन बड़ा बुरा रहा ... :(

सामयिक बुलेटिन के लिए आभार हर्ष |

Asha Saxena ने कहा…

उम्दा है |
मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद हर्ष वर्धन जी |

Tushar Rastogi ने कहा…

हाँ दिन तो बुरा ही था...समसामयिक बुलेटिन छोटे...भगवान् जाने वालों की आत्मा को शांति दे...जय हो मंगलमय हो - हर हर महादेव

Anita ने कहा…

देरी से आने के लिए खेद है..आभार !

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार