Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 27 जून 2015

काम वाला फ़ोन - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

आज आपको एक छोटी सी कहानी सुना रहा हूँ ... यह कहानी हमारे आपके बीच से ही उठाई गई है !!
फ़ोन का बहुत अधिक बिल आने पर एक आदमी ने अपने घर के सभी लोगों को बुलाया और कहने लगा...

आदमी: "देखो, मुझे इस बात पर बिल्कुल भी यकीन नही हो रहा है कि फ़ोन का इतना अधिक बिल कैसे आ सकता है? जबकि मैं तो सारे फ़ोन अपने ऑफिस के लैंडलाइन फ़ोन से करता हूँ।"

पत्नी: "बिल्कुल, मैं भी! मैं तो कभी भी इस फ़ोन से फ़ोन नही करती क्योंकि मेरे ऑफिस मे भी लैंडलाइन फ़ोन है।"

बेटा: "अरे तो आप लोग क्या समझते है... मेरी कंपनी वालों ने तो मुझे ऑफिस मे लैंडलाइन के साथ साथ मोबाइल भी दिया है वो भी बिल्कुल लेटेस्ट वाला ... मैं तो उसी से फ़ोन करता हूँ।"

अब सब की नज़र गई नौकरनी पर ... वो इतनी देर से इस सब की बातें सुन रही थी ... 

नौकरानी: तो इसमें दिक्कत क्या है साहब? सभी अपने काम वाले फ़ोन से ही फ़ोन करते हैं।

सादर आपका
शिवम् मिश्रा 
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~

दुर्गा का अपमान

Rewa tibrewal at प्यार

जय हो जय हो जय हो

सुशील कुमार जोशी at उलूक टाइम्स
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

9 टिप्पणियाँ:

Kavita Rawat ने कहा…

काम वाली बाई भी मौका देख चौका मारती रही ..
बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति ...

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

ब्लाग बुलेटिन, बुलेटिन परिवार, पाठक. लेखक, टिप्पणीकार, गलती से पेज क्लिक कर जाने वाले सरकार सभी की जय हो 'उलूक' की एक हजारवीं जय जय कार को आज के बुलेटिन में जगह देकर सम्मानित करने के लिये जय जय कार हो विशेषकर शिवम भाई की विशेष जय हो :)

Tushar Rastogi ने कहा…

Badhiya bhai - Jai ho

Tushar Rastogi ने कहा…

Badhiya bhai - Jai ho

Arshiya Ali ने कहा…

शि‍वम जी, स्पेशल मैंगो शेक को सभी तक पहुंचाने के लिए आपका बहुत बहुत शुक्रिया।

VenuS "ज़ोया" ने कहा…

शिवम्

:)

bahutt waqt baad aana huyaa meraa is traf....apne blog pr.....aur aapke kaarn yahaan tak aa paayi.....aabhaar

hmmm..

aap to bahut hi achaa kaam kr rhe hain..bdhaayi swikaar kren

meri rchnaa ko yahaan tak laane ke liye bahut bahut aabhaar

VenuS "ज़ोया" ने कहा…

शिवम्

:)

bahutt waqt baad aana huyaa meraa is traf....apne blog pr.....aur aapke kaarn yahaan tak aa paayi.....aabhaar

hmmm..

aap to bahut hi achaa kaam kr rhe hain..bdhaayi swikaar kren

meri rchnaa ko yahaan tak laane ke liye bahut bahut aabhaar

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

किसी चीज का उपयोग ना हो तो वह पड़े-पड़े ख़राब भी हो जाती है। बेचारी ने तो परिवार की सहायता ही की !

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार