Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 19 मई 2015

रावण का ज्ञान - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लोगर मित्रों,
प्रणाम |

जिस समय रावण मरणासन्न अवस्था में था, उस समय भगवान श्रीराम ने लक्ष्मण से कहा कि इस संसार से नीति, राजनीति और शक्ति का महान् पंडित विदा ले रहा है, तुम उसके पास जाओ और उससे जीवन की कुछ ऐसी शिक्षा ले लो जो और कोई नहीं दे सकता।

श्रीराम की बात मानकर लक्ष्मण मरणासन्न अवस्था में पड़े रावण के सिर के नजदीक जाकर खड़े हो गए।

रावण ने कुछ नहीं कहा।

लक्ष्मण जी वापस रामजी के पास लौटकर आए... तब भगवान ने कहा कि यदि किसी से ज्ञान प्राप्त करना हो तो उसके चरणों के पास खड़े होना चाहिए न कि सिर की ओर।

यह बात सुनकर लक्ष्मण जाकर इस बार रावण के पैरों की ओर खड़े हो गए।

उस समय महापंडित रावण ने लक्ष्मण को तीन बातें बताई जो जीवन में सफलता की कुंजी है।

पहली बात जो रावण ने लक्ष्मण को बताई वह ये थी कि ...
 
"What's app से दूर रहना।"

दूसरी बात "Facebook का प्रयोग मत करना।"

और तीसरी बात "गाड़ी चलाते समय Mobile मत इस्तेमाल करना। नहीं तो बड़ा बुरा हाल होगा।"

सादर आपका 
 =====================

आश्वस्ति...!

अनुपमा पाठक at अनुशील 

शबनमी मोती

सु-मन (Suman Kapoor) at बावरा मन 

चार राहें

गिरिजा कुलश्रेष्ठ at Yeh Mera Jahaan 
 =====================
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

9 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

बहुत सुंदर ।

अनुपमा पाठक ने कहा…

रावण का ज्ञान
... बेहद सटीक!!!
परम सत्य!

sadhana vaid ने कहा…

अरे वाह ! ब्लॉग बुलेटिन पर नयी हलचल देख हार्दिक प्रसन्नता हुई है ! अनेक शुभकामनायें एवं अभिनन्दन !

Amit Srivastava ने कहा…

हलचल फिर हुई ,दस्तक दी ज़माने ने । अच्छा लगा नब्ज़ जो टटोली आपने ,नहीं तो मुस्कुराये जमाना हुआ ।

गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…

अपनी रचना यहाँ देखना अच्छा लगा . धन्यवाद .

गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…

अपनी रचना यहाँ देखना अच्छा लगा . धन्यवाद .

dj ने कहा…

वाह मजेदार रहा रावण का दिया ज्ञान। :)
शुक्र है रावण ने ब्लॉगिंग से दूर रहने का ज्ञान नहीं दिया था।
वरना आज उसका ज्ञान शिवम सर के मुख से सुनकर चेहरे पर मुस्कान आये बिना रह जाती।

सभी लिंक्स बहुत बढ़िया सर। आभार

Kavita Rawat ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति। । आभार!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार