Subscribe:

Ads 468x60px

गुरुवार, 3 जुलाई 2014

ब्लॉग बुलेटिन और ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान

सभी ब्लॉगर मित्रों को सादर नमस्कार।।


ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान (जन्म:15 जुलाई 1912 आज़मगढ़ – मृत्यु: 3 जुलाई 1948) भारतीय सेना के एक उच्च अधिकारी थे जो भारत और पाकिस्तान के प्रथम युद्ध (1947-48) में शहीद हो गये। उस्मान 'नौशेरा के शेर के' रूप में ज्यादा जाने जाते हैं। वह भारतीय सेना के सर्वाधिक प्रतिष्ठित और साहसी सैनिकों में से एक थे, जिन्होंने जम्मू में नौशेरा के समीप झांगर में मातृभूमि की रक्षा करते हुए अपने प्राण गंवा दिए थे। पूरा लेख यहाँ पढ़े ……


ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान जी की 66वें शहीद दिवस पर हिन्दी ब्लॉगजगत और ब्लॉग बुलेटिन टीम उनको सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करते है। सादर।।


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर  .......... 














आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे। शुभरात्रि।।

8 टिप्पणियाँ:

आशीष भाई ने कहा…

बढ़िया लिंक्स , बुलेटिन व हर्ष भाई को धन्यवाद !
Information and solutions in Hindi ( हिंदी में समस्त प्रकार की जानकारियाँ )

Vivek Rastogi ने कहा…

लिंक शामिल करने के लिये धन्यवाद

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

सुंदर सूत्र सुंदर बुलेटिन हर्ष । शेर - ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान को नमन और श्रद्धासुमन । 'उलूक' के सूत्र 'किसी ने तो देखा सुना होगा किसी का ढोलक या सितार हो जाना' को जगह देने के लिये आभार ।

Aparna Sah ने कहा…

hamesha ki tarah sundar sutra...sarthak buletin...

आशा जोगळेकर ने कहा…

Very good links.

कविता रावत ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति
ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान जी को सादर श्रद्धासुमन!

Kaushal Lal ने कहा…

सुंदर सूत्र ....

शिवम् मिश्रा ने कहा…

नौशेरा के शेर - ब्रिगेडियर मोहम्मद उस्मान की ६६ वीं पुण्यतिथि पर हम सब उनको शत शत नमन करते है |

इस सार्थक बुलेटिन के लिए बहुत बहुत आभार हर्ष |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार