Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 22 जुलाई 2014

राष्ट्रीय झण्डा अंगीकरण दिवस, मुकेश और ब्लॉग बुलेटिन

सभी ब्लॉगर मित्रों को मेरा सादर नमस्कार।।



22 जुलाई, 1947 ई. को हमारे देश के राष्ट्र ध्वज तिरंगे को भारत के संविधान द्वारा अपनाया ( अंगीकृत ) गया था। उस दिन से पूरे भारतवर्ष में आज के दिन को भारत के राष्ट्रीय झण्डा अंगीकरण दिवस के रूप में मनाया जाता है।

आज हिन्दी सिनेमा के महान और सुप्रसिद्ध गायक मुकेश जी का 91 वाँ जन्म दिवस है। मुकेश जी का जन्म एक कायस्थ परिवार में 22 जुलाई, 1923 ई. को दिल्ली में हुआ था। मुकेश जी का पूरा नाम मुकेश चन्द्र माथुर था। इन्होंने अपने फ़िल्मी कैरियर की शुरूआत बतौर अभिनेता तथा गायक के रूप में सन 1941 में प्रदर्शित फिल्म " निर्दोष " से की थी। इस फिल्म के अलावा " माशूका ", " आह ", " अनुराग ", तथा " दुल्हन " फिल्मों में भी मुकेश जी ने बतौर अभिनेता काम किया था। लेकिन मुकेश जी ख्याति बतौर गायक ज्यादा मिली। 

मुकेश जी ने गायक के रूप में " यहूदी ", " बंदिनी ", " अनाड़ी ", " संगम ", " अंदाज़ ", " पहचान ", " बेईमान ", " रजनी गंधा "," मेरा नाम जोकर ", " कभी - कभी ", " सत्यम शिवम् सुन्दरम, " आदि फिल्मों में अपनी बेजोड़ तथा मधुर आवाज़ दी है। मुकेश जी को अपनी गायकी के लिए चार बार सर्वश्रेष्ठ गायक का फिल्म फेयर अवार्ड तथा एक बार राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त हुआ। मुकेश जी का निधन 27 अगस्त, 1977 ई. को अमेरिका में सिंगिंग शो के एक कंसर्ट में दिल का दौरा पड़ने से हुआ था। 

मुकेश जी के बारे में अधिक जानने के लिए यहाँ चटका ( क्लिक ) करे :-


   Singer Mukesh   


आज महान गायक मुकेश जी के जन्म दिवस पर हिन्दी ब्लॉगजगत तथा ब्लॉग बुलेटिन टीम उनकी अमर आवाज़ को स्मरण करते हुए उन्हें श्रद्धापूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित करती है। सादर।।  


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर  …………………। 











आज की बुलेटिन में बस इतना ही कल फिर मिलेंगे। सादर।।

6 टिप्पणियाँ:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

मुकेश मेरा प्रिय गायक बहुत से गाने याद थे किसी जमाने में । सुंदर बुलेटिन हर्ष ।'उलूक' के सूत्र 'प्रतियोगिता के लिये नहीं बस दौड़ने के लिये दौड़ रहा होता है' को जगह दी आभारी हूँ ।

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

बेहतरीन लिंक्स...चैतन्य को शामिल करने का आभार

सु..मन(Suman Kapoor) ने कहा…

मुकेश जी कि याद.और बढ़िया लिंक्स

shashi purwar ने कहा…

sundar prastuti

Asha Saxena ने कहा…

उम्दा सूत्र और उनका संयोजन |

jyoti khare ने कहा…

बहुत सार्थक और सुन्दर रचनाओं को संजोया है.....
सभी रचनाकारों को बधाई ---
सुन्दर संयोजन के लिये हर्षवर्धन जी को भी बधाई

मुझे सम्मलित करने का आभार

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार