Subscribe:

Ads 468x60px

शनिवार, 7 जून 2014

कब होगा इंसाफ - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रों,
प्रणाम |

आज कोई बातचीत नहीं सिर्फ एक चित्र ... क्यों कि हर तस्वीर कुछ कहती है ...

क्यों है यह हाल मेरे (प्र)देश मे ...
सादर आपका
शिवम् मिश्रा
==========================

Icecream ज़िंदगी

बरफ का गोला

पागल बुढ़िया

है कशिश ऐसी

बहेलिया और जंगल में आग

तृषित उर को पोषता सा

छदम लिखती हूँ

लो कर लो बात :-)

हिन्दुस्तान दा अक़्खिरी ढ़ाबा

भूका है भोपाल रे बाबा- कैफ भोपाली

वृंदावन के भिखारी और भिखारिनें - इनका दरद न जाने कोय

मेरा कृष्ण मुझ से रूठ गया

सफर में-आबू धाबी

प्रयास तुम्हारा

टूटे सपने

==========================
अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

17 टिप्पणियाँ:

आशीष भाई ने कहा…

चित्र देखकर तो होश उड़ गये , क्या कहना सिर्फ भुगतना , शिवम भाई व बुलेटिन को धन्यवाद !
I.A.S.I.H - ब्लॉग ( हिंदी में समस्त प्रकार की जानकारियाँ )

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

यात्रा पर था आज बहुत दिनों के बाद बुलेटिन पर आना हो पा रहा है । बहुत सुंदर सूत्र संयोजन ।

SKT ने कहा…

आत्मा को भेदता, झकझोरता, रुलाता, आक्रोशित करता चित्र …

Dr. sandhya tiwari ने कहा…

kise doshi mana jaay shivam ji chitr ki kahani to badi hi dardnak hai......

Neeraj Kumar Neer ने कहा…

सुन्दर सूत्र संकलन ... मेरे पोस्ट को शामिल करने के लिए सादर आभार ..

आशा जोगळेकर ने कहा…

दिल को निचोडता चित्र। सब कुछ कहता हुुआ।
पोस्टों पर जाते हैं.

Aparna Sah ने कहा…

sach hai chitr sabkuch bol ja raha.....achhe post....

Swati Vallabha Raj ने कहा…

देर से आने के लिए माफ़ी चाहूंगी। । स्थान देने के लिए धन्यवाद ​… चित्र सच में दिल गहरायी तक उतरा।।। ​फेसबुक पर शेयर कर रही हूँ चित्र
हर रंग के सूत्र सजाने के लिए शुभकामनाएं

Asha Saxena ने कहा…

पर्याप्त लिंक्स बहुरंगी |
मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |

Anita ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन का एक और सटीक अंक..सचमुच चित्र शब्द से ज्यादा कह जाते हैं. आभार !

ब्लॉ.ललित शर्मा ने कहा…

चौकस बुलेटिन

mahendra mishra ने कहा…

बहुत अच्छा लगा आज का बुलेटिन बधाई ..समयचक्र की पोस्ट को शामिल करने के लिए धन्यवाद

कविता रावत ने कहा…

चित्र बहुत कुछ साफ़ समझा देते हैं.
बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति.......

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार |

parul chandra ने कहा…

The pic 'HITS' !

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

शिवम जी,

हलकी-फुल्की पोस्ट को शामिल करने के लिए धन्यवाद

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार