Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 10 मार्च 2014

फटफटिया बुलेटिन

सभी चिट्ठाकार मित्रों को सादर नमस्कार।।

आज भी मैं आपके सामने नियमित बुलेटिन पेश कर पाने में असमर्थ हूँ। आजकल व्यस्त भी रहता हूँ और ब्लॉगिंग से भी दूरी बना रखी है। इसलिए आज सिर्फ कुछ महत्वपूर्ण कड़ियाँ  .... सादर।।












आज कि फटफटिया बुलेटिन में बस इतना ही। कल फिर मिलेंगे।।

10 टिप्पणियाँ:

Udan Tashtari ने कहा…

Ye badhiya kiya- sab ek jagah. Abhar mujhe sammalit karne ka,.

parul chandra ने कहा…

मेरी रचना को शामिल करने के लिए आभार।

Asha Saxena ने कहा…

सुन्दर सूत्र संयोजन |मेरी रचना शामिल करने के लिए धन्यवाद हर्ष जी |

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

कल भी फटफटिया बुलेटिन देखा था आज फिर से आ गया बहुत खूब और उल्लूक का सूत्र "आशा और निराशा के युद्ध का फिर एक दौर आ रहा है" भी दिखा कहीं फटफटाता हुआ :) ।

आभार ।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

यही बहुत है, पढ़ डालते हैं।

Abhimanyu Bhardwaj ने कहा…

हर्षवर्धन जी
मेरी पोस्‍ट को श्‍ाामिल करने के लिये अाभार

निवेदिता श्रीवास्तव ने कहा…

सुन्दर सूत्र ....... धन्यवाद :)

काजल कुमार Kajal Kumar ने कहा…

पोस्‍ट लिंक सहेजने के लि‍ए आपका आभार जी

Digamber Naswa ने कहा…

अच्छा बुलेटिन ... आभार मुझे जगह देने का ...

शिवम् मिश्रा ने कहा…

मार्च का महिना होता ही व्यस्तता भरा है ...तुम जैसे छात्रों को इम्तिहान की चिंता और हम जैसों को टार्गेट और क्लोसिंग की ... और इन सब के बावजूद नियमित बुलेटिन लगाने की कोशिश मे हम सब लगे हुये है ... साधुवाद हर्ष |

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार