Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 1 जनवरी 2014

"नए वर्ष की असीम शुभकामनाएँ"





2013 के गमले में 2014 के कोपल उग आये हैं 
सूखी पत्तियाँ गिरने को हैं 
पुरातन से नवीन होने का क्रम अपनी सीमा पर है 
कुछ सेकेण्ड ............. 
ये रहा नया साल 
नई उम्मीदों की सूर्य रश्मियों से भरी गागर लिए
नहा लो नए सकारात्मक संकल्पों की ऊष्मा से
बदल लो साल का कैलेण्डर
और 365 दिन की यात्रा आरम्भ करो
एक एक समय की गरिमा को समझो
जिस परम्परा में -
'बड़ों को प्रणाम और छोटों को प्यार' जैसे शब्द थे
उन्हें फिर से आजमाओ
नया वर्ष तुम्हें आशीषों से भर देगा
पूर्वजों की आत्मा दुआएँ देंगी
ब्रह्ममुहूर्त के कलरव से एक ही धुन आएगी
"नए वर्ष की असीम शुभकामनाएँ"

7 टिप्पणियाँ:

अनुपमा पाठक ने कहा…

असीम शुभकामनाएँ!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

सभी को नए वर्ष की असीम शुभकामनाएँ ... सब का साथ बना रहे यही दुआ है |

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

नव-वर्ष पर यह सन्देश सर्वथा सार्थक हो यही कामना है!!

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

नव वर्ष मंगलमय हो सभी के लिये !

Asha Saxena ने कहा…

नव वर्ष शुभ और मंगलमय हो |
आशा

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…


नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाए...!
RECENT POST -: नये साल का पहला दिन.

राजीव कुमार झा ने कहा…

नव वर्ष की शुभकामनाएँ !!
नई पोस्ट : नींद क्यों आती नहीं रात भर

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार