Subscribe:

Ads 468x60px

बुधवार, 30 अक्तूबर 2013

डॉ. होमी जहाँगीर भाभा और ब्लॉग बुलेटिन

सभी चिट्ठकार मित्रों को सादर नमन।।


स्वंत्रत भारत को परमाणु युग में प्रवेश दिलाने का श्रेय महान वैज्ञानिक डॉ. होमी जहाँगीर भाभा को ही जाता है। डॉ. भाभा एक ऐसे वैज्ञानिक थे जिन्होंने न केवल भारत में, बल्कि दुनिया भर में अपनी वैज्ञानिक क्षमता का परिचय दिया था।

डॉ. भाभा का जन्म बंबई (मुंबई) के एक पढ़े लिखे धनवान पारसी परिवार में 30 अक्टूबर, 1909 ई. में हुआ था। इनके पिता श्री जे. एच. भाभा बंबई (मुंबई) के सुप्रसिद्ध बैरिस्टरों में से एक थे।

डॉ. भाभा की प्रारंभिक शिक्षा बंबई (मुंबई) के केथेड्रल और जॉन कैनन हाईस्कूल में हुई। पढ़ाई में इनका काफी मन लगता था, उनकी विशेष रूचि गणित में थी, 15 वर्ष कि आयु में ही उन्होंने सीनियर कैम्ब्रिज कि परीक्षा उत्तीर्ण कर ली थी। इसके बाद उन्हें एलफिंस्टन कॉलेज में प्रवेश दिलाया गया, वहाँ भी इन्होंने अपनी प्रतिभा का परिचय दिया। उसके बाद इनका प्रवेश रॉयल सोसाइटी ऑफ़ साइंस में कराया गया, यहाँ अध्ययन करते हुए उन्होंने बंबई (मुंबई) विश्वविद्यालय की आई. एस. सी. की परीक्षा सफलतापूर्वक उत्तीर्ण की। पूरा लेख यहाँ पढ़े .… 


आज उनकी 114 वीं जयंती पर पूरा हिंदी ब्लॉगजगत और ब्लॉग बुलेटिन की टीम उन्हें श्रद्धापूर्वक श्रद्धांजलि अर्पित करती है। सादर।।


अब चलते हैं आज की बुलेटिन की ओर ......














तब तक के लिए शुभ रात्रि, कल फिर मिलेंगे।।

8 टिप्पणियाँ:

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

देश के सपूतों को नमन, सुन्दर सूत्र

सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी ने कहा…

आप बहुत अच्छा काम कर रहे हैं। साधुवाद।

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

Bharat ko paramaanwik shakti ke roop mein pehchan dilane wale is sapoot ko naman..
Links dekhta hoon!

कविता रावत ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन प्रस्तुति
मेरी ब्लॉग पोस्ट शामिल करने हेतु आभार!!

कविता रावत ने कहा…

डॉ. होमी जहाँगीर भाभा को सादर श्रद्धांजलि!

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

डॉ. भाभा को नमन व श्रद्धांजलि !!
अच्छे लिंक्स !!

Mukesh Kumar Sinha ने कहा…

!! प्रकाश का विस्तार हृदय आँगन छा गया !!
!! उत्साह उल्लास का पर्व देखो आ गया !!
दीपोत्सव की शुभकामनायें !!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

डॉ. होमी जहाँगीर भाभा को सादर श्रद्धांजलि !
इस सुंदर बुलेटिन के आपका आभार हर्ष !

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार