Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 5 मार्च 2013

ज्ञान + पोस्ट लिंक्स = आज का ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रो ,
प्रणाम !
आज का ज्ञान :- 
"केवल कर्महीन ही ऐसे होते हैं.जो भाग्य को कोसते हैं, और जिनके पास शिकायतों का बाहुल्य होता है।"

सादर आपका

शिवम मिश्रा 

===========================

हेल्थ पॉलिसी लेना कितना जरूरी ?

होली विशेष

तेरी आदत ...

....बोझ

दीवारों से बात करता मैं दीवाना

बेरुखी

हैप्पी बर्थड़े ... अम्मा !!

पन्नों में सिमटा रूस है “स्मृतियों में रूस”

भरतपुर पक्षी अभयारण्य

आप, तुम और तू

सृष्टि हुई 'शहनाज'

 ===========================

अब आज्ञा दीजिये ...

जय हिन्द !!!

17 टिप्पणियाँ:

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

अच्छे लिंक्स

तुषार राज रस्तोगी ने कहा…

बढ़िया लिंक्स भाई

ज्योति खरे ने कहा…

सुंदर संग्रह----बढ़िया संयोजन

DrZakir Ali Rajnish ने कहा…

गागर में सागर सा है यह ब्‍लॉग बुलेटिन।

............
धुम्रपान और शराब से बचाता है...

पूरण खण्डेलवाल ने कहा…

अच्छे लिंक !!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सुन्दर सूत्र..

पी.सी.गोदियाल "परचेत" ने कहा…

बढ़िया ज्ञान की बात बताई सर जी ! I also suggest the people of this country to stop their whining chorus and act :)

Rajendra Kumar ने कहा…

बहुत ही सुन्दर सूत्र संयोजन,सादर आभार.

आशा जोगळेकर ने कहा…

झाती हूँ इन लिंक्स पर और थोडा ज्ञान प्राप्त करती हूँ । मेरे लेख को शामिल करने का आभार ।

दिगम्बर नासवा ने कहा…

आज तो गागर में सागर है ...
शुक्रिया मुझे भी जगह देने के लिए ...

दिगम्बर नासवा ने कहा…

शुक्रिया इन संपर्कों का ... शुक्रिया मुझे भी शामिल करने का ...

Swapnil Jewels ने कहा…

बेहद उम्दा....
plz. visit :
http://swapnilsaundarya.blogspot.in/2013/03/blog-post.html

shikha varshney ने कहा…

बढ़िया लिंक्स , आभार

गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…

सभी रचनाएं बेहतरीन हैं । मेरी रचना को शामिल करने के लिये धन्यवाद ।

गिरिजा कुलश्रेष्ठ ने कहा…

सभी रचनाएं अच्छी हैं । मेरी रचना को शामिल करने के लिये धन्यवाद

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार!

HARSHVARDHAN ने कहा…

समय की कमी के कारण यह बुलेटिन अब पढ़ पाया हूँ। बढ़िया बुलेटिन।

नये लेख :- समाचार : दो सौ साल पुरानी किताब और मनहूस आईना।
एक नया ब्लॉग एग्रीगेटर (संकलक) : ब्लॉगवार्ता।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार