Subscribe:

Ads 468x60px

सोमवार, 11 मार्च 2013

चराग़-ए-महफ़िल

हज़रात आदाब अर्ज़ करता हूँ !

पेश कर रहा हूँ आज का बुलेटिन के कुछ चुनिन्दा चराग़ | आप सभी की दिल से तवज्जो चाहूँगा |

आपके अल्‍फ़ाज़ देंगे हर क़दम पर हौसला, ज़र्रानवाज़ी के लिए शुक्रिया! जी शुक्रिया...

नंदिता - एक नज़र मेरी बात पर

धीरेन्द्र अस्थाना - मेरा भारत महान

दीप फर्रूखाबादी - यादें

गोपाल कृष्ण शुक्ल - परम सत्य १९

प्रीती बाजपाई = अश्कों से भीगी वो चांदनी

शरद कोकास - कामिनी से लेकर कमीने तक

सदा - तुम ये तर्पण करना

इंदु लडवाल - मैं जिंदा हूँ

शालिनी रस्तोगी - गुमशुदा

अशोक पण्डे - तुम्हारे रास्ते में, तुम्हारा स्वागत करने हाज़िर होंगीं मछलियाँ

निवेदिता श्रीवास्तव - अनकही दास्तां

ख्वाहिश करता हूँ आपका प्यार इन कड़ियों को ज़ुरूर प्राप्त होगा | आगे भी आपके समक्ष कुछ नया और सुन्दर प्रस्तुत करने का प्रयास ज़ारी रहेगा |

ज़र्रानवाज़ी
तुषार राज रस्तोगी

तमाशा-ए-ज़िन्दगी

15 टिप्पणियाँ:

Vibha Rani Shrivastava ने कहा…

सलाम वालेकुम :))
सुभानाल्लाह ....
रौशन हो गया दिलो-दिमाग़ रौशनी से ...
गुलशन आबाद हो गया ....
इनायत-ए-करम ....
खुदाहाफिज़ ...

Vibha Rani Shrivastava ने कहा…

सलाम वालेकुम :))
सुभानाल्लाह ....
रौशन हो गया दिलो-दिमाग़ रौशनी से ....
गुलशन आबाद हो गया ....
इनायत-ए-करम ....
खुदाहाफिज़ ....

Vibha Rani Shrivastava ने कहा…

सलाम वालेकुम ....
सुभानाल्लाह ....
रौशन हो गया दिलो-दिमाग़ रौशनी से ....
गुलशन आबाद हो गया ....
इनायत-ए-करम ....
खुदाहाफिज़ ....

ज्योति खरे ने कहा…

सार्थक लिंक
सुंदर संयोजन /सभी रचनाकारों को बधाई
संयोजन का आभार

Asha Saxena ने कहा…

सुन्दर लिंक्स के साथ अच्छा संयोजन |आभार |
आशा

Vibha Rani Shrivastava ने कहा…

सलाम वालेकुम ....
सुभानाल्लाह ....
रौशन हो गया दिलो-दिमाग़ रौशनी से ....
गुलशन आबाद हो गया ....
इनायत-ए-करम ....
खुदाहाफिज़ ...

पूरण खण्डेलवाल ने कहा…

उम्दा लिंक !!

Shalini Rastogi ने कहा…

बहुत बहुत धन्यवाद तुषार .... अपने ब्लॉग बुलेटिन का हिस्सा बनाए के लिए ..

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

सुन्दर सूत्र..

शिवम् मिश्रा ने कहा…

अरे वाह जनाब तुषार रस्तोगी साहब ... आप ने तो आज बुलेटिन रूपी महफिल जमाई हुई है ... भई मज़ा आ गया ... सुभानाल्लाह ....क्या लिंक्स चुने चुन कर पेश किए है आपने ... बहुत खूब ... लगे रहिए हुज़ूर !

दिगम्बर नासवा ने कहा…

वाह .. मज़ा आ गया सभी लिंक मस्त हैं ...

निवेदिता श्रीवास्तव ने कहा…

कुछ नये ब्लॉग का पता भी मिल गया ...... धन्यवाद !

रविकर ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति-
शुभकामनायें भाई तुषार-

PREETI BAJPAI ने कहा…

बहुत बहुत धन्यवाद सबका ध्यान हमारी रचना की तरफ दिलाने के लिए...आभार !!!!!!!!आप सबका ...

Indu Ladwal ने कहा…

tushar ji apni rachnaoon ko apke buletein per pad ker bahut khushi hui, jane anjane hi per kuch naye dost mil gaye, shukriya apka

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार