Subscribe:

Ads 468x60px

गुरुवार, 21 फ़रवरी 2013

एहसासों का दस्तरखान - ब्लॉग बुलेटिन


आदरणीय मित्रगण,
नमस्कार !!!

मैं हाज़िर हूँ आपके रूबरू कुछ नई कुंडलियाँ लेकर | अपने पसंदीदा खजाने से कुछ और मोती चुन कर आपका प्यार पाने के लिए | हंसी, मजाक, यार, प्यार, मोहब्बत, दुःख, दर्द, रुसवाई, अंगड़ाई, भाव, छंद, द्वन्द, अरमान, दास्तान और मेरे प्यारे कद्रदान आज के बुलेटिन में है हर एहसास की भरमार | कहते हैं के आज के दस्तरखान का है अंदाज़-ए-बयां और | आप सभी की दुआएं और साथ चाहूँगा | गौर फरमाएं और प्यार जताएं | पेश-ए-खिदमद करता हूँ अपनी नई कुंडलियों का गट्ठर | 























सादर आभार और प्यार 
तुषार राज रस्तोगी 


13 टिप्पणियाँ:

Rajendra Kumar ने कहा…

बहुत ही सार्थक लिंक संयोजन,आभार तुषार जी.

धीरेन्द्र सिंह भदौरिया ने कहा…

तुसार जी,,सभी लिंक अच्छे लगे,
एक सलाह यह की जिनके पोस्टो से आप रचना ले उस पोस्ट के कमेंट्स बाक्स में
रचनाकार को सूचित करे,अभी मैंने अरुण जी की पोस्ट देखा उसमे ब्लॉग बुलेटिन द्वारा कोई रचना की लिंक लेने की कोई सूचना नही दी गई,आशा है ध्यान देगें,,,,

तुषार राज रस्तोगी ने कहा…

भदौरिया जी किस काम में फँस जाने की वजह से सूचित करने में देरी हो गई | सूचित कर दिया गया है हर रचनाकार को | सलाह के लिए बहुत बहुत शुक्रिया | आभार तथा धन्यवाद् |

shyam gupta ने कहा…

अच्छा प्रयास है ...बढाए व आभार तुषार जी....

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

बहुत सुन्दर सूत्र..

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

बढिया बुलेटिन

vandana gupta ने कहा…

बढि्या बुलेटिन

expression ने कहा…

अच्छा बुलेटिन तैयार किया है तुषार...
बधाई.

आभार
अनु

शिवम् मिश्रा ने कहा…

वाह बहुत सही ... तुषार भाई ... रफ्तार पकड़ ली आपने तो ... जय हो !

Sadhana Vaid ने कहा…

शानदार बुलेटिन ! शुभकामनाएं !

सोनरूपा विशाल ने कहा…

उत्तम बुलेटिन ..मैं भी शामिल हूँ यहाँ ..देख कर अच्छा लगा ..धन्यवाद !

ADITYA BHUSHAN MISHRA ने कहा…

शुक्रिया बहुत-२. आपने एक बहुत उपयोगी कार्य पर दृष्टि डाली है.

सदा ने कहा…

बहुत ही अच्‍छी प्रस्‍तुति

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार