Subscribe:

Ads 468x60px

गुरुवार, 25 अक्तूबर 2012

भट्टी साहब, यार आप हमेशा याद आओगे... ब्‍लॉग बुलेटिन

सबको हँसाने वाला अचानक चला गया। जी यकीन कर पाना मुश्किल है लेकिन जसपाल भट्टी साहब अब नहीं रहे। इस बेरहम सड़क के हादसो मे एक नाम और जुड़ गया..... अपार दुख है, किसको श्रद्धांजलि दूँ एक कार्टूनिस्ट को, इंजेनियर को, एक कमेडियन को, एक निर्माता को या एक नाटककार को.... या फिर नुक्कड़ नाटक से चली इस सामाजिक जागरूकता के आंदोलन कर्ता के रूप को। जी बहुत रूप थे भट्टी साहब के, बहु-आयामी व्यक्तित्व और हर दिल अज़ीज़ भट्टी साहब को पूरे ब्लॉग जगत से श्रद्धांजलि। 






भट्टी साहब आप हमेशा याद आओगे।  चलिये आज के बुलेटिन की ओर बढ़ा जाये। 

-----------------------------------------------------

-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------
-----------------------------------------------------


अंत मे फिर से एक बार भट्टी साहब को याद करते हुए फ्लॉप शो का यह वीडियो यू-ट्यूब के सौजन्य से... 


मरते मरते जमाने को हँसाने का हुनर सिखा गया है कोई.... भट्टी साहब आप हमेशा हमारे बीच रहेंगे और हमेशा याद आते रहेंगे....  

जय हिन्द 


17 टिप्पणियाँ:

shikha varshney ने कहा…

उन जैसा न कोई था न होगा. एक उम्दा व्यंगकार.विनर्म श्रद्धांजलि जसपाल भट्टी साहब को.

ऋता शेखर मधु ने कहा…

बहुआयामी व्यक्तित्व को विनम्र श्रद्धांजलि!!

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

विनम्र श्रद्धांजलि भट्टी साहब को..

परमजीत सिहँ बाली ने कहा…

विनम्र श्रद्धांजलि जसपाल भट्टी साहब को.

expression ने कहा…

श्रद्धा सुमन......

सादर
अनु

Girish Billore ने कहा…

श्रद्धा सुमन.

यादें....ashok saluja . ने कहा…

विन्रम श्रद्धांजलि !

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

भट्टी साहब.. हम तुम्हें यूं भुला ना पाएंगे...

शिवम् मिश्रा ने कहा…

हद है साला सब 'उल्टा पुल्टा' हो गया ... :(

भट्टी साहब आपको शत शत नमन !

अजय कुमार झा ने कहा…

lagta hai ye saal rulaane par utaaru hai. Bahut hee dukhadpoorn ghatna

रश्मि प्रभा... ने कहा…

विनम्र श्रद्धांजली

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

एक अनोखा ढंग था इनका अपनी बात कहने का.. कल से सोच रहा हूँ कि कहीं ये सब मौत का नाटक भी उनका कोई मजाक न हो यह देखने के लिए कि लोग क्या कहते हैं उनके बारे में!!

रविकर ने कहा…

बांटा जीवन भर हँसी, जय भट्टी जसपाल |
हंसगुल्ले गढ़ता रहा, नानसेंस सी चाल |
नानसेंस सी चाल, सुबह ले लेता बदला |
जीवन भर की हँसी, बनाता आंसू पगला |
उल्टा -पुल्टा काम, हमेशा तू करता है |
सुबह सुबह इस तरह, कहीं कोई मरता है ||

वन्दना ने कहा…

विनम्र श्रद्धांजलि!

सुमित प्रताप सिंह Sumit Pratap Singh ने कहा…

अलविदा हँसी की भट्टी..:(

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

अत्यंत दुखद, ऐसी सख्शियते कम ही होती हैं. विनम्र श्रर्द्धांजलि.

रामराम.

दीपक की बातें ने कहा…

मुझे बचपन में उनके फ्लॉप शो का इंतजार रहता था।

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार