Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 28 अगस्त 2012

बारिश.. ट्रैफ़िक जाम और खिचखिच... ब्‍लॉग बुलेटिन

दिल्ली की बारिश... आय़ं... आज सुना दिल्ली की बारिश से दिल्ली वासियों का जीना मुहाल हुआ... सोचा देखें कितना बारिश हुआ.. 43 मिमी.. बस ? इतना बारिश तो मुम्बई में आम बात है... तो फ़िर ? दिल्ली का बुरा हाल कैसे हो जाता है भाई। मुम्बई और दिल्ली का कम्पेरिज़न कीजिए जान जाईएगा की शीला दीक्षित के दिल्ली मास्टर प्लान में कितने मीन मेख हैं.. वहीं मुम्बई का डिज़ास्टर मैनेजमेंट भी गायब हो जाता है। मुम्बई और दिल्ली दोनों में एक बात समान है और वह यह की यहां सरकार कांग्रेस की है और नगर पालिका पर भाजपा गठबंधन.. जी बिल्कुल इसीलिए इन दोनों शहरों की मुसीबत का कारण भी यही है..   

मुंबई शहर तो हर बारिश में भगवान् भरोसे हो जाती है, शहर की हालत के लिए सरकारी प्रशाशन का योगदान सर्वोप्परी है... मुंबई की सडको को कंक्रीट बनाने के नाम/ मैट्रो ट्रेन / मोनो रेल के नाम पर हुई खुदाई से सड़क के किनारों पर मिटटी जमी हुई है.... यही मिटटी बारिश के समय बहकर ड्रेनेज सिस्टम को चोक कर देती है और बारिश का जमा हुआ पानी निकलने नहीं पाता.... यह समस्या हर वर्ष की है और इस वर्ष कुछ ज्यादा है.... अगर बारिश तेज हुई (तेज बारिश से मेरा मतलब १५० मिमी या उससे ज्यादा) तो फिर शहर परेशानी में पड सकता है.... आम तौर पर हर साल कम से कम ऐसे पांच से दस दिन होते हैं जब मुंबई में २५० मिमी से ४५० मिमी तक पानी बरसता है.... तो मुंबई वासिओं को क्या करना चाहिए.... अपने आप को सरकार भरोसे छोड़ देना चाहिए? जी नहीं बिलकुल नहीं..... तो लीजिये कुछ इस प्रकार की तैयारी कीजिये...  

यदि आपके पास कार है तो 
  • कार की सर्विस रेगुलर कराएं, उसमे विंड स्क्रीन वाशर शैम्पू ज़रूर रखे.
  • कार के इंजिन और इलेक्ट्रिक सिस्टम को चेक करते रहे, एसी ठीक तरह से काम करना चाहिए, उसकी जाँच कर ले...
  • आपकी कार के टायर का रबर और ब्रेक चेक करें...  आपकी कार के ब्रेक एक्सल और ब्रेक लाइनर अच्छे शेप में होने चाहिए... ब्रेक आयल की जाँच करें... 
  • आपके कार का स्टीरिओ में ऍफ़ एम् रेडिओ ठीक से बजता हो... 
  • किसी भी लो-लाइन एरिया में जाने के पहले सोच विचार ले और यदि अति-आवश्यक हो तभी जायें..
  • कार में एक हथौड़ा (सेन्ट्रल लोकिंग के फेल होने की दशा में खिड़की तोड़ने के लिए) , तौलिया, कुछ खाने का सामान, छाता जरूर रख लें... 
  • अपना मोबाईल चार्ज रखें.... घर से निकलते समय मोबाईल ज़रूर चेक करें... 
  • यदि आप अत्यधिक जल-जमाव (जब पानी बोनट तक या केबिन के अन्दर आ जाये) में फंस जायें तो पैनिक होकर कार को बंद न करें, यदि कार अपने आप बंद हो जाये तो उसे गलती से भी स्टार्ट करने की कोशिस न करें...  उस समय कार को स्टार्ट करने का प्रयास आपकी कार को ख़राब कार देगा... धक्का लगाये और कार को पानी से बाहर निकालें... 
  • अपने कार के डीलर का नंबर अपने मोबाइल में स्टोर रखें... 
यदि आपके पास कार नहीं भी है तो 
  • मोबाईल चार्ज रखें... और मोबाईल में ऍफ़ एम् सुनने के लिए हेड-फोन ज़रूर रखें
  • अपने आफिस में एक जोड़ी कपडा एक्स्ट्रा रख दें... 
  • छाता ज़रूर ले कर निकले हो सके तो एक विंड चीटर ज़रूर ले ले.... 
  • अपने बैग में कुछ खाने का सामान ज़रूर लें...  
  • कुछ बचें और दूसरो को बचाने का प्रयास करें.... कोई भी अफवाह न फैलाएं और किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें... 
याद रखिए एक जागरूक नागरिक बहुत महत्त्वपूर्ण है हमारे समाज के लिए.... तो जागरूक रहिएगा और पूरी तरह सतर्क भी.. 

---------------------------------- 
आज का बुलेटिन
---------------------------------- 

---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 
---------------------------------- 

चलिए देव बाबा को इज़ाजत दीजिए... कल फ़िर मुलाकात होगी एक नये मुद्दे के साथ.. तब तक के लिए सतर्क रहिए और बरसात का आनन्द लीजिए वह भी पूरी सावधानी के साथ... 


5 टिप्पणियाँ:

साकेत शर्मा ने कहा…

ध्यान रखेंगे ..धन्यवाद

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

बढिया बुलेटिन
अच्छे लिंक्स

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

उपयोगी सलाह, सुन्दर सूत्र...

शिवम् मिश्रा ने कहा…

बहुत बढ़िया सलाह उतने ही बढ़िया लिंक्स ... बधाइयाँ देव बाबू !

HARSHVARDHAN SRIVASTAV ने कहा…

JANKARI YOGY HAI.

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार