Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 21 अगस्त 2012

कुछ हंसी के गोलगप्पे... ब्‍लॉग बुलेटिन

आज कल हम कितने उलझे रहते हैं... न जानें कैसी कैसी परेशानियों से घिरे रहते हैं.... आईए तो फ़िर आज हम कुछ चुटकुलों से आपका मनोरंजन करते हैं..

--------------------------------------

पति-पत्नी में झगड़ा हो रहा था.
पति – “अब अगर तुमने एक शब्द भी और कहा तो मेरे अंदर का जानवर जाग जायेगा … !”

पत्नी – “ठीक है, ठीक है … तुम्हारे अंदर जो जानवर बैठा है उसे जाग जाने दो … भला चूहे से भी कोई डरता है .. !!!”

--------------------------------------

डॉक्टर - आपके तीन दांत कैसे टूट गए ?
मरीज - पत्नी ने कड़क रोटी बनाई थी.
डॉक्टर - तो खाने से इनकार कर देते !

मरीज – जी, वही तो किया था … !!!

--------------------------------------


"तुम इतने चिन्तित क्यों हो ?” ऑपरेशन टेबल पर लेटे मरीज से डॉक्टर ने पूछा ।
"क्या बताऊं डॉक्टर साहब, यह मेरी जिन्दगी का पहला ऑपरेशन है” – मरीज ने जवाब दिया।
"अच्छा ! पर मेरी जिन्दगी का भी यह पहला ऑपरेशन है और मैं तो बिल्कुल भी चिन्तित नहीं हूं।”

--------------------------------------


”डॉक्टर साहब, क्या आपको यकीन है कि मुझे  मलेरिया ही है ? दरअसल मैंने एक मरीज के बारे में पढ़ा था कि डॉक्टर उसका मलेरिया का इलाज करते रहे और अंतत: जब वह मरा तो पता चला कि उसे टायफाइड था।”

”चिन्ता मत करो, मेरे साथ ऐसा नहीं होगा। अगर मैं किसी का मलेरिया का इलाज करूंगा तो वह मलेरिया से ही मरेगा।”
--------------------------------------

हंसी के हसगुल्लो के बाद आईए ब्लाग जगत के कुछ चुनिंदा पोस्टो पर नज़र डाली जाए....

--------------------------------------
५०० वीं टिप्पणीमुझे अब मिल ही गयी ....!!!: बधाई हो
--------------------------------------
नींद रात रानी हो गयी। वाह जी वाह
--------------------------------------
बुद्धि की झोरिया : कहाँ टांग दिहो। क्या बात है...
--------------------------------------
दिल से । (गीत)। बढिया गीत
--------------------------------------
एक पत्र बचपन के नाम। एक उम्दा पोस्ट
--------------------------------------
कैग की जीरो या मैडम का अंडा। श्श्श!!! का कहें...
--------------------------------------
ढलती शाम के संग...। वाह
--------------------------------------
वो इमली का पेड़। क्या जी वाह
--------------------------------------
मुझ सी ही नटखट मेरी परछाइयाँ। मजा आ गया जी
--------------------------------------
जहां निर्वाण होता हो मासूमियत का !!!। अच्छा ही है
--------------------------------------
वेब-पत्रिकाओं और ब्लॉग से चोरी हो रही हैं रचनाएँ : मुंबई से प्रकाशित 'संस्कार' पत्रिका का कारनामा। सरजी कापीराईट का मतलब ही होता है राईट टू कापी.... :-)
--------------------------------------


आशा है आपको आज का बुलेटिन पसन्द आया होगा.... तो फ़िर देव बाबा को इज़ाजत दीजिए.. एक छोटे से ब्रेक के बाद फ़िर मुलाकात होगी...

जै हिन्द



9 टिप्पणियाँ:

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

बढिया बुलेटिन
अच्छे लिंक्स

DrZakir Ali Rajnish ने कहा…

हंसी के गोलगप्‍पे यूं ही खिलाते रहें, ब्‍लॉग बुलेटिन सबको पढाते रहें।

............
डायन का तिलिस्‍म!
हर अदा पर निसार हो जाएँ...

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

रोचक कड़ियाँ, चुटकुलों का हल्कापन भी..

dheerendra ने कहा…

रोचक लिंक्स ,,,,बढ़िया बुलेटिन,,,

RECENT POST ...: जिला अनूपपुर अपना,,,
RECENT POST ...: प्यार का सपना,,,,

सदा ने कहा…

बहुत ही अच्‍छे लिंक्‍स के साथ बेहतरीन प्रस्‍तुति।

HARSHVARDHAN SRIVASTAV ने कहा…

Blog Bulletin ki ek umda koshish.kripya mere blog par bhi padhare:- http://harshprachar.blogspot.com/

Maheshwari kaneri ने कहा…

बढिया बुलेटिन..अच्‍छे लिंक्‍स ..

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

हंसते हंसाते अच्छी बुलेटिन!!

शिवम् मिश्रा ने कहा…

जय हो देव बाबू जय हो ... खूब जमाये हो बुलेटिन ... बस ऐसे ही जमाये रहो ... ;-)

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार