Subscribe:

Ads 468x60px

मंगलवार, 10 जुलाई 2012

सच्चा प्यार चाहिए या नानवेज जोक..... ड़ाल करें - ब्लॉग बुलेटिन

प्रिय ब्लॉगर मित्रो,
प्रणाम !


मैं हूं एक प्यारी सी कुंवारी लड़की। आप हमसे किसी भी तरह की बात कर सकते हैं। चाहे वह..। क्या आपको चाहिए सच्चा प्यार? तो काल कीजिए .. नंबर पर। दस रुपये प्रति मिनट की दर से होगी यह काल। क्या आप बोर हो रहे हैं तो फिर 'जोक' है न आपके लिए। अरे! 'नानवेज जोक' भी है भाई।
मोबाइल कंपनियों का यह खेल आजकल जबर्दस्त तरीके से लोगों को परेशान किये है। पहले, लगातार एक नंबर से फोन आते थे। लोगों ने उसे पहचान लिया था। काल आते ही उस नंबर को उठाना ही बंद कर दिया। पर अब तो मोबाइल कंपनियों के काल सेंटर से नंबर बदल-बदल कर फोन आ रहे हैं।
दिन भर में औसतन दस से पंद्रह एसएमएस तो इस तरह के आ ही जाते हैं। कहने को तो इस पर पाबंदी है पर देश में इसकी कोई सीधी व्यवस्था नहीं कि आप इस तरह के काल की शिकायत संबंधित कंपनी के खिलाफ कर सकें या फिर इस तरह के काल आपके मोबाइल पर न आयें। समस्या इतनी बड़ी है कि हर घर का औसतन तीन से चार आदमी इस समस्या से परेशान है। मेरा ख़ुद का नम्बर NATIONAL DO NOT DISTURB REGISTRY में रजिस्टर किया हुआ है पर फ़िर भी कॉल आ रही है !
मोबाइल कंपनियों का हाल यह है कि अब समाज के संस्कार पर भी चोट करना शुरू कर दिया है। जब काल सेंटर से संबंधित मोबाइल कंपनी द्वारा ग्रुप एसएमएस अपने ग्राहकों को किया जाता है तो उन्हें इस बात की कोई जानकारी नहीं रहती कि वह किस उम्र के लोगों को अपना संदेश भेज रहे हैं और उसे पढ़ेगा कौन?
एक संदेश की बानगी देखिए-आप हिना से दोस्ती करना चाहते हैं तो .. नंबर पर आइए, टीना ..नंबर पर मिलेगी और फिर करीना.. नंबर पर। वृद्ध दादा जी एसएमएस नहीं पढ़ पाते हैं और अपने किशोर पोते को कहते हैं क्या है? जब वह एसएमएस अपने दादा जी को पढ़कर सुनाता है तो क्या स्थिति होगी इसका अंदाजा सहज लगाया जा सकता है।
मोबाइल कंपनियों से इस तरह के जो काल आ रहे हैं उनमें कभी-कभी बिल्कुल ही उन्मुक्त अंदाज में लड़कियां कुछ इस तरह से बात करती हैं कि मानो..। दफ्तर जाने और लौटने के समय इस तरह के काल खूब आते हैं। जैसे ही मोबाइल की घंटी बजी कि आप रुक गए। भले ही देर क्यूं न हो जाए। आपने हलो बोला तो आधे सेकेंड के बाद उधर से आवाज आती है।
लवमीटर क्या बला है इस बारे में अब तक शायद ही किसी को पता हो पर मोबाइल कंपनियां आपको यह बता रही हैं कि आप अपने नाम और अपनी चहेती के नाम एसएमएस करें। हम लवमीटर पर उसे जांचकर बता देंगे किस स्तर का है आपका प्यार?..आप दिखना चाहते हैं स्लिम एंड ट्रिम तो फिर अपना ब्लड ग्रुप हमें भेजिए हम बताएंगे आपको आपके ब्लड ग्रुप के हिसाब से वह आहार जो आपको स्लिम बना देगा।
प्यार, इश्क और नानवेज जोक के लिए निमंत्रण के साथ-साथ अब आपकी गाय आपके पड़ोसी की गाय से अधिक दूध कैसे दे इस बात की गारंटी के लिए भी एसएमएस करने को आमंत्रित किया जा रहा है !!

 तो फिर क्या सोचा आपने ... करेंगे न नंबर डायल ... ???

सादर आपका 


----------------------------------------------------------------------------

posted by संतोष त्रिवेदी at बैसवारी baiswari
आठ दिन पहले श्रीमती जी का जन्मदिन था.अचानक मुझे याद आया कि यही सही वक्त है जब अपनी बहुत दिनों की एक मुराद पूरी कर ली जाए.दरअसल एक अच्छे कैमरे के लिए मैं काफ़ी दिन से सोच रहा था.सतीश सक्सेना जी से मुलाक...

posted by सुमित प्रताप सिंह Sumit Pratap Singh at सादर ब्लॉगस्ते! 
रात के संतरी को फारिग कर उससे असला(हथियार) लिया ही था, कि सामने थाने का सफाई कर्मचारी कलवा झाड़ू लगाते दिखा. जैसे ही वह मेरे पास से गुजरा, उसने मुझे एक ज़ोरदार सलाम मारा. जिसका मैंने समुचित उत्तर दिया....

posted by Kumar Radharaman at स्वास्थ्य 
भले ही स्किनी जींस से आपको स्लिम लुक मिलता है, लेकिन इसके साइड इफेक्ट्स खासे रिस्की हैं। दरअसल, इससे मरेल्जिया परेस्थेटिका (Meralgia Paresthetica) डिसऑर्डर हो सकता है। जानते हैं, इसके बारे में : मौजू..

posted by lori ali at आवारगी 
तेरा मेरा नाम खबर में रहता था दिन बीते एक सौदा सर में रहता था मेरा रास्ता तकता था एक चाँद कहीं मै सूरज के साथ सफ़र में रहता था. सारे मंज़र गोरे गोरे लगते थे जाने किसका रूप नज़र में रहता था मैंने अक्सर आँख...
posted by मनोज कुमार at विचार 
*बोल बच्चन- **मनोरंजक है, देख सकते हैं*** * * * * तीन सीजन तक कॉमेडी सर्कस के जज रह चुके रोहित शेट्टी की *“बोल बच्चन”* उन लोगों को जो *‘कॉमेडी सर्कस’* टीवी शो के रेगुलर दर्शक हैं, कोई खास नहीं जमेगी, क्...
posted by शिवम् मिश्रा at हर तस्वीर कुछ कहती है ... 
posted by Point at poit 
नफा नुकसान जो जिन्दगी में ना हो , तो क्या कोई रिश्ते पनप पायेगे ?? ना कोई नींद प्यारी होगी ...कभी और ये बाते भी अधूरी सी हो जाएगी | क्या सहारा , क्या साथ देना .... और जीना तो एक एहसान सा होगा | जागते-जागते...
posted by संजय @ मो सम कौन ? at मो सम कौन कुटिल खल ...... ? 
दोस्तों,  ब्लॉगजगत में इन दिनों काफी गहमागहमी है जिसकी वजह एक विशेष गुट के लोगों द्वारा महिलाओं और उनमें भी हिंदु महिलाओं की तस्वीरों को गलत सन्दर्भ में अपनी पोस्ट्स के साथ लगाना है| ये काम  बिना उन महिलाओं ...

posted by Indranil Bhattacharjee ........."सैल" at जज़्बात, ज़िन्दगी और मैं 
कई दिनों से फोटोग्राफी में अपना हाथ आजमा रहा हूँ | काफी कुछ सीखा भी | धीरे धीरे आप सब के साथ वो ज्ञान (जो थोडा सा अर्जित हुआ है ) बांटूंगा | फ़िलहाल आप सब के लिए ला रहा हूँ स्टॉप मोशन फोटोग्राफी से लिया हुआ...

उसे प्यार नहीं था पर कर रही थी कोशिश प्यार करने की क्योंकि यही रिवाज़ है, हर लड़की को चाहना होता है अपने होने वाले पति को, और और समझाना होता है यही है वो राजकुमार जिसका इंतज़ार करती आ रही है सदियों से,जब नख स...

posted by अरुण चन्द्र रॉय at सरोकार 
सदियों से साथ रहा है उनके यह रोग जिन्होंने काटे हैं पहाड़ बनाये हैं महल ऊँची चारदीवारी सड़क, पुल और नई फैक्ट्रियां पीठों पर जो ढोते हैं पत्थर हाथ जो गढ़ते हैं शिलाओं की मूर्तियाँ जो अपनी छाती के जोर से ...

----------------------------------------------------------------------------

अब आज्ञा दीजिये ...
 
जय हिंद !!

19 टिप्पणियाँ:

Pallavi saxena ने कहा…

हमेशा की तरह इस बार भी बढ़िया लिंक से सजा बुलेटिन...

expression ने कहा…

बहुत बढ़िया बुलेटिन......
सभी लिंक्स जानदार....

शुक्रिया
अनु

मनोज कुमार ने कहा…

आज के बुलेटिन में कई ऐसे लिंक मिल गए जिन तक जाना नहीं हो पाय था। हो आता हूं।
हमारे ‘विचार’ को स्थान देने के लिए शुक्रिया।

shikha varshney ने कहा…

ओह यह सब वहाँ भी शुरू हो गया ..???लानत है.
बुलेटिन और लिंक्स बढ़िया हैं.

महेन्द्र श्रीवास्तव ने कहा…

बढिया बुलेटिन

veerubhai ने कहा…

बहुत बढ़िया व्यंग्य है आज के यथार्थ पर .बढिया मजेदार सारे लिंक .बोल बच्चन से ...लव मीटर तक .

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

मोबाइल कम्पनियों से बचना बहुत कठिन है, आप पर वे अपना अधिकार समझती हैं।

राजेश शर्मा ने कहा…

vakai mo. companiyon ke logon ki apani dincharya pr khalal dalane me koi kami nahin ki hain.

सुमित प्रताप सिंह Sumit Pratap Singh ने कहा…

शिवम भाई इस बुलेटिन के लिए आपका शुक्रिया. आपका यह लेख सादर ब्लॉगस्ते की शोभा बढ़ा रहा है...

Maheshwari kaneri ने कहा…

सुन्दर लिक्स बढिया बुलेटिन..

Kumar Radharaman ने कहा…

कभी टोल-फ्री नम्बर पर ऐसी सुविधाएं आएं,तो बताइएगा।

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

वाह बढिया बुलेटिन.. .बहुत उत्कृष्ट प्रस्तुति है आपका बहुत - बहुत आभार.

आज का आगरा

रविकर फैजाबादी ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति |

Indranil Bhattacharjee ........."सैल" ने कहा…

वाह, क्या अंदाज़ है चर्चे की ... मज़ा आ गया
पोस्ट शामिल करने के लिए धन्यवाद ...

अजय कुमार झा ने कहा…

बहुत ही बढियां बांचे हैं बुलेटिन मिसर जी । खूबसूरत और प्रभावी पोस्टों के लिंक्स चयन के लिए आभार ।

SiD KuMaR ने कहा…

http://sidsxx15.blogspot.in/
mujhe add hona hai kya karna hoga

शिवम् मिश्रा ने कहा…

आप सब का बहुत बहुत आभार !

SiD KuMaR ने कहा…

APNA POST APNI RACHNA YAHA PAR KAISE DEKH SAKTE HAI JAB MAIL KIYA JA CHUKA HO TAB
KOI BATAYEGA,
KAISE APNI RACHANA KO YAHA PRKASHIT KI JAYE........
MANCH ACHHA HAI
ISKE LIYE TEAM KO BADHAAI...

शिवम् मिश्रा ने कहा…

@sid

आप ब्लोगिंग करते रहिए ... आपकी रचना यहाँ अपना स्थान जरूर बनाएगी ... आभार ! पाठक आपको मिलेंगे पहले पाठको को अपनी ओर बुलाने के लिए पोस्टो और ब्लॉग को भली भांति सजा तो दीजिये ... अधिक जानकारी के लिए गूगल कीजिये और ब्लोगिंग के टिप्स लीजिये !

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार