Subscribe:

Ads 468x60px

रविवार, 13 मई 2012

माँ दिवस विशेषांक - ब्लॉग बुलेटिन

वैसे तो भारत मे हम लोगो को अपने माता - पिता का सम्मान करने के लिए किसी खास दिन की जरूरत नहीं है ... पर अब जब रवायत चल ही पड़ी है तो यही सही ... आज माँ दिवस है ! ब्लॉग जगत मे भी माँ दिवस की धूम देखी  गयी है ...  

ब्लॉग बुलेटिन का आज का अंक माँ दिवस विशेषांक है ! 

माँ है मंदिर मां तीर्थयात्रा है.....श्री चन्द्रप्रभ जी

"माँ दुनिया की जननी-जाता" (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

माँ...

|| माँ ||

मेरी मां....

मदर्स डे (लघु कथा)

मेरी माँ थोड़ी अलग सी है...

फिर मैं कैसे अव्यक्त को व्यक्त कर सकती हूँ......

मां

ख़िदमत : हसन के इंतज़ार में पथराईं मां की आंखें...

मातृ दिवस पर सभी माताओं को हार्दिक नमन!

तुझसा बनना तो बड़ा कठिन है री माँ

सबसे पहले मां

क्या लिखूँ?

माँ

मैं ऐसे किसी इंसान से दोस्ती नहीं करता जिसने ?

ये जीवन की अनगिन कहानी गहूँ मैं ...!!

छिपाती थी बुखारों को जो मेहमां कोई आ जाए : मातृ दिवस पर एक गीत

मां..... जाने कहां गई

---माँ.....डा श्याम गुप्त....

"माँ मतलब ....."

13 मई, मातृ-दिवस को समर्पित: - माता-पिता के हमारे संबोधन : (How we address our parents):

एक लफ्ज़ नन्हा सा - माँ

फ़ुरसत में ...102 मातृ दिवस पर मां की याद!

माँ
मेरा चेहरा तू पढ़ लेती... 




 || वन्दे मातरम ||

40 टिप्पणियाँ:

मनोज कुमार ने कहा…

मां तुझे प्रणाम!
इस दिवस को समर्पित सारे लिंक ढंढ़ कर आपने आज के बुलेटिन को सजा दिया है। आभार।

Girish Billore ने कहा…

सभी चिंतकों को विनत प्रणाम
आभार भी आप सबका

अमित श्रीवास्तव ने कहा…

मै तो बहुत स्वार्थी हूँ | माँ से मिलने वाले स्नेह और प्यार के लालच में ही उन्हें याद किया करता हूँ क्योंकि मेरा मानना है जब जब मै उन्हें याद करता हूँ तो उस याद की हाँ में मुझे बहुत सारा आशीर्वाद और प्यार तुरंत ही मिल जाता है |

शिवम् मिश्रा ने कहा…

वाह देव बाबू वाह ... खूब मनवाए मदर्स डे ... जय हो ... जय हो !

आज के दिन से जुड़ी हुई इतनी सारी पोस्टें एक ही जगह ... काफी खोजबीन किए महाराज !

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

मातृदिवस पर अच्छी प्रस्तुति!
आपका आभार!

Vijay Kumar Sappatti ने कहा…

shukriya dost.

Atul Shrivastava ने कहा…

मां...................बेहतरीन प्रस्‍तुति

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

बढ़िया बुलेटिन ,.....

"माँ है मंदिर मां तीर्थयात्रा है.....श्री चन्द्रप्रभ जी" की पोस्ट को स्थान देने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया और आभार

Sawai Singh Rajpurohit ने कहा…

आप सभी को सुगना फाऊंडेशन मेघलासिया,"राजपुरोहित समाज" आज का आगरा और एक्टिवे लाइफ ,एक ब्लॉग सबका ब्लॉग परिवार की तरफ से सभी को मातृदिवस की हार्दिक शुभकामनाएं..
आपका
सवाई सिंह{आगरा }
http://rajpurohitagra.blogspot.in

Sriram Roy ने कहा…

माँ ..तो माँ.. होती ...thanks.

वन्दना अवस्थी दुबे ने कहा…

वाह!!! बड़ा स्नेहिल बुलेटिन है ये तो! ममत्व से पूर्ण. बधाई.

BS Pabla ने कहा…

मां तुझे प्रणाम!

shikha varshney ने कहा…

माँ की ममता से भरा बुलेटिन.

expression ने कहा…

माँ से ही तो हम सबका जीवन है............
काश माओं को वो सम्मान और स्नेह मिले जिसकी वो अधिकारी हैं..

हमारी रचना को शामिल करने के लिए आपका आभार.

सादर
अनु

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार ने कहा…





बहुत सुंदर स्नेहिल बुलेटिन
मां के लिए कितना भी विस्तार से लिख लें , कम ही होगा …
नमन है मां को !
नमन है मेरी मां को !
नमन है आपकी मां को !
नमन है संसार की प्रत्येक मां को !

मां तुझे प्रणाम !
आभार आपका !

Unknown ने कहा…

माँ जन्मदात्री है जिसने जन्म दिया , माँ नर्स है जिसने हमें कपडे पहनने का ढंग सिखाया खाना खिलाना सिखाया , माँ गुरु है जिसने पहले हमें अक्षर ज्ञान दिया ,माँ आज ही नहीं वो तो प्रातः स्मरणीय है को प्रणाम !!

India Darpan ने कहा…

सचमुच माँ हमेँ ईश्वर की सर्वोत्तम देन है।
बहुत ही बेहतरीन और प्रशंसनीय प्रस्तुति....


इंडिया दर्पण
की ओर से मातृदिवस की शुभकामनाएँ।

Anupama Tripathi ने कहा…

वाह..! माँ के लिए सम्माननीय बुलेटिन ....!!बहुत मेहनत से तैयारी की ...!!माँ पर आपकी आस्था झलक रही है ....!!
अहोभाग्य मेरा मुझे यहाँ स्थान मिला ....!!
ये मेरी बर्थडे गिफ्ट है शिवम ....थैंक यूं ....!!
बधाई एवं शुभकामनायें .

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

बहुत बढ़िया लिनक्स लिए बुलेटिन ...

माँ को नमन

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

सुन्दर विशिष्ट संस्करण के लिये साधुवाद!
या देवी सर्वभूतेषु मातृरूपेणु संस्थिता ...

Dev Kumar Jha ने कहा…

सच कहें तो मां के लिए जो भी लिखा जाए कम है....
मां मां है...
मां से बढकर दुनियां मे कोई कहां है...

आप सभी का आभार...

चला बिहारी ब्लॉगर बनने ने कहा…

गज़ब!!!
ये ऐसा क़र्ज़ है जो मैं अड़ा कर ही नहीं सकता,
मैं जब तक घर न लौटूं माँ मेरी सजदे में रहती है!

rashmi ravija ने कहा…

माँ दिवस को समर्पित सारे लिंक एक जगह ही मिल गए..शुक्रिया...
बढ़िया बुलेटिन

dheerendra ने कहा…

मातृदिवस पर अच्छी प्रस्तुति,,,,,अच्छे लिंक्स

,चार पंक्तियाँ माँ के सम्मान में ,...

माँ की ममता का कोई पर्याय हो नहीं सकता
पूरी दुनिया में माँ तेरे जैसा कोई हो नही सकता
माँ तेरे चरण छूकर सलाम करता हूँ
सभी माताओ को प्रणाम करता हूँ..

सुमन कपूर 'मीत' ने कहा…

माँ को शत शत नमन .....

Archana ने कहा…

itne sare link...........
bahut khoob !!!..shukriya .. dekhati hu ek ek karke....

रविकर फैजाबादी ने कहा…

सुन्दर प्रस्तुति |
नमन माँ ||

फ़िरदौस ख़ान ने कहा…

बहुत ख़ुशनसीब होते हैं वो लोग, जिनकी मां उनके पास होती है...बहुत ख़ुशनसीब होते हैं वो लोग, जिनके साथ उनकी मां की दुआएं होती हैं...बहुत ख़ुशनसीब होते हैं वो लोग, जो दूसरों की मां की भी इज़्ज़त करते हैं, और उनसे दुआएं पाते हैं...
लेकिन
बहुत बदनसीब होते हैं वो लोग, जो न अपनी मां की इज़्ज़त करते हैं और न ही दूसरों की मांऑं की...

फ़िरदौस ख़ान ने कहा…

बहुत सुन्दर प्रस्तुति है...
मां! तुझे सलाम...
उन बेटों को भी हमारा सलाम, जो अपनी मां और दूसरों की मांऑं की इज्ज़त करनी जानते हैं...

DR. ANWER JAMAL ने कहा…

मां पर ब्लॉग पोस्ट्स का कलेक्शन किया जाए और ‘प्यारी मां‘ ब्लॉग से कुछ भी न लिया जाए ?

जो कि हिंदी ब्लॉग जगत का सबसे पहला और सबसे बड़ा सामूहिक रचनात्मक वैचारिक आंदोलन है।
देखिए -
www.pyarimaan.blogspot.in/2012/04/mother-urdu-poetry-part-3.html

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

कोमल भावों से सजे, सारे के सारे सूत्र..

रश्मि प्रभा... ने कहा…

माआआआआआआआआआआआआआ ..... एक जादू

Maheshwari kaneri ने कहा…

मेरी रचना को स्थान देने के लिए आभार....

Maheshwari kaneri ने कहा…

माँ शब्द में कितनी शीतलता है...सब तरप शीतलता ही शीतलता...मेरी रचना को स्थान देने के लिए आभार....

shekhar suman.. शेखर सुमन.. ने कहा…

thanku bhiya for adding my post here.... :) mast bulletin....

DEEPAK SHARMA KULUVI दीपक शर्मा कुल्लुवी ने कहा…

wonderful

वन्दना ने कहा…

मातृदिवस पर अच्छी प्रस्तुति!

अजय कुमार झा ने कहा…

बहुत खूब देव बाबा । पिछली सारी कसर पूरी कर दी आपने । बहुत ही सुंदर और संग्रहणीय पन्ना बन पडा है आज का बुलेटिन का । बरओं तक याद रहने वाला । मातृ दिवस पर इससे खूबसूरत पोस्ट और पढने को नहीं मिल सकती थी । डॉ. अनवर साहब , जानकारी देने के लिए शुक्रिया भविष्य में हम जरूर ध्यान रखेंगे ।

Reena Maurya ने कहा…

बहुत ही बेहतरीन लिंक्स
बढ़िया बुलेटिन..

Dev Kumar Jha ने कहा…

आप सभी का आभार.....

एक टिप्पणी भेजें

बुलेटिन में हम ब्लॉग जगत की तमाम गतिविधियों ,लिखा पढी , कहा सुनी , कही अनकही , बहस -विमर्श , सब लेकर आए हैं , ये एक सूत्र भर है उन पोस्टों तक आपको पहुंचाने का जो बुलेटिन लगाने वाले की नज़र में आए , यदि ये आपको कमाल की पोस्टों तक ले जाता है तो हमारा श्रम सफ़ल हुआ । आने का शुक्रिया ... एक और बात आजकल गूगल पर कुछ समस्या के चलते आप की टिप्पणीयां कभी कभी तुरंत न छप कर स्पैम मे जा रही है ... तो चिंतित न हो थोड़ी देर से सही पर आप की टिप्पणी छपेगी जरूर!

लेखागार